खबर लहरिया Blog स्पेनिश की 115 वर्षीय महिला बनी दुनिया में सबसे पुरानी व लंबे समय तक जीवित रहने वाली महिला

स्पेनिश की 115 वर्षीय महिला बनी दुनिया में सबसे पुरानी व लंबे समय तक जीवित रहने वाली महिला

फ्रांस की 118 वर्षीय ल्यूसिल रैंडन की मृत्यु के बाद 115 वर्ष की आयु में स्पेनिश की मारिया ब्रन्यास मोरेरा दुनिया में सबसे लंबे समय तक जीवित रहने वाली बुज़ुर्ग महिला बन गयी हैं।

                                   फोटो साभार – Guinness World Records

स्पेनिश की मारिया ब्रन्यास मोरेरा (Maria Branyas Morera), फ्रांस की 118 वर्षीय ल्यूसिल रैंडन (Lucile Randon) की मृत्यु के बाद 115 वर्ष की आयु में दुनिया में सबसे लंबे समय तक जीवित रहने वाली बुज़ुर्ग महिला बन गयी हैं – गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स (Guinness World Records) के अनुसार। इसका अर्थ यह है कि मारिया दुनिया में सबसे बुर्जुग जीवित व जीवित रहने वाली महिला हैं।

25 जनवरी 2023 तक मारिया ब्रन्यास मोरेरा की उम्र 115 साल 327 दिन है।

मोरेरा ने अपने ट्विटर बायो में बड़े ही मज़ेदार अंदाज़ में लिखा है, “मैं बूढ़ी हूँ, मैं बहुत बूढ़ी हूँ लेकिन मूर्ख नहीं हूँ,”

ये भी पढ़ें –  Anokha Mall : लखनऊ के ‘अनोखा मॉल’ से गरीब व्यक्ति मुफ्त में ले सकते हैं सर्दी के कपड़े

कहां हुआ मोरेरा का जन्म?

मारिया का जन्म सैन फ्रांसिस्को, कैलिफ़ोर्निया में 4 मार्च, 1907 को उनके माता-पिता के यूएस में बसने के बाद हुआ। जब वे 8 साल बाद स्पेन लौटें तो उन्होंने कैटेलोनिया जाने का फैसला किया। पिछले 22 सालों से श्रीमती मोरेरा इस क्षेत्र के एक नर्सिंग होम ResidEncia Santa MarIa del Tura में रह रही हैं।

खबर की प्रतिक्रिया देते हुए नर्सिंग होम ने एक बयान में कहा, “वह अच्छी सेहत में है और इस वर्षगांठ ने जो उन्हें दिया है उसके लिए वह आश्चर्यचकित और आभारी रहने वाली हैं। आने वाले दिनों में है, इस खुशी को मनाने के लिए हम एक छोटा-सा कार्यक्रम करेंगे।”

लम्बी आयु भाग्यशाली होना है

विश्व रिकॉर्ड धारक मोरेरा अक्सर ट्विटर पर जीवन से जुड़ी सलाह पोस्ट करती रहती हैं। उन्होंने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स को बताया कि उनका लंबा जीवन ” शांति, परिवार और दोस्तों के साथ अच्छे संबंध, प्रकृति के साथ संपर्क, भावनात्मक स्थिरता, कोई चिंता नहीं, कोई पछतावा नहीं, बहुत सारी सकारात्मकता और कटु लोगों से दूर रहने की वजह से है।” “मुझे लगता है कि लंबी आयु होना भाग्यशाली होने की तरह है। लक और अच्छे जेनेटिक्स, ” – मोरेरा ने कहा।

युद्ध से लेकर महामारी तक मोरेरा ने लड़ी है लड़ाई

मोरेरा की बेटी ने कैटलन न्यूज़ को बताया कि, “वह कभी अस्पताल नहीं गयी, उनकी कभी हड्डी नहीं टूटी, वह ठीक है, उन्हें कोई दर्द नहीं है,।”

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की वेबसाइट के अनुसार, मोरेरा ने स्पेनिश गृहयुद्ध, स्पेनिश फ्लू महामारी व 2020 में कोविड-महामारी से भी लड़ाई लड़ी। अपना 113वां जन्मदिन मनाने के कुछ हफ़्तों बाद ही उन्हें वायरस हो गया था लेकिन वह कुछ जल्दी ही ठीक हो गयी थीं।

ये भी पढ़ें – वाराणसी जिले की महिला मिस्त्री, मज़दूरी से करी मिस्त्री बनने की शुरुआत

मोरेरा की शादी भी थी रोमांचक

मोरेरा ने 1931 में कैटलन चिकित्स्क जोआन मोरेट (Joan Moret) से शादी की। उन्होंने जीडब्ल्यूआर को बताया कि उनकी शादी बहुत ही रोमांचक थी। “प्रीस्ट के कई घटों के इंतज़ार के बाद” जोड़ी को पता चला कि उनक दुःखद निधन हो गया है। यह जोड़ी 4 दशकों तक साथ रही। 72 वर्ष की आयु में उनके पति की मृत्यु हो गयी।

जीवन के प्रति मोरेरा का पॉजिटिव नज़रिया

वर्तमान में मोरेरा के 3 बच्चे, 11 पाते व 13 परपोते हैं।

जीडब्ल्यूआर के अनुसार, मोरेरा जीवन को लेकर एक सकारात्मक दृष्टिकोण रखती हैं और मानती हैं कि हर कोई अपनी उम्र की परवाह किए बिना हर दिन कुछ नया सीख सकता है।

एक लंबा जीवन यक़ीनन जीवन की कई सीख सिखाता है और दूसरों को जीवन को और बेहतर, खुलेतौर व खुशी से जीने को प्रेरित करता है। जीवन लंबा हो या छोटा, उसे पूरी तरह से खुलकर जीना मायने रखता है।

ये भी पढ़ें – रजनी ताई के सफल जीवन की प्रेरक कहानी

 

‘यदि आप हमको सपोर्ट करना चाहते है तो हमारी ग्रामीण नारीवादी स्वतंत्र पत्रकारिता का समर्थन करें और हमारे प्रोडक्ट KL हटके का सब्सक्रिप्शन लें’

If you want to support  our rural fearless feminist Journalism, subscribe to our  premium product KL Hatke ‘ 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *