16 वर्षीय सौरभ चौधरी ने रचा इतिहास, भारत के लिए जीता स्वर्ण पदक

साभार: ट्विटर

निशानेबाज़ सौरभ चौधरी ने, बूएनोस एरेस, अर्जेंटीना में चल रही ‘युवा ओलंपिक गेम्स’ के दौरान,10m एयर-पिस्टल प्रतयोगिता में भारत के लिए स्वर्ण पदक हासिल किया है

सीनियर एशियाई गेम्स प्रतयोगिता और जूनियर वर्ल्ड प्रतयोगिता जीतने के बाद, ये 16 वर्षीय सौरभ का तीसरा बड़ा पदक है

फाइनल्स में 244.2 का निशाना लगाकर स्वर्ण पदक जीतना, सौरभ के लिए काफी आसान था मीरुत के कलीना गॉंव के सौरभ ने पहले से ही जूनियर फाइनल्स में 245.5 का विश्व रिकॉर्ड हासिल किया हुआ है जोकि सीनियर रिकॉर्ड से 1.9 पॉइंट जयादा है

कोरिया के रजत पदक विजेयी, सुंग युन्हो से 7.5 पॉइंट्स ज्यादा बनाकर, सौरभ ने प्रतियोगिता में जीत हासिल करी है

4 भारतीय निशानेबाजों ने युवा गेम्स के लिए योग्यता हासिल कर ली है और उन सब ने व्यक्तिगत वर्ग में पदक भी जीते हैं वहीँ शाहू तुषार मने और मेहुली घोष ने, पुरुष और महिला 10m एयर-राइफल प्रतियोगिता में रजत पदक जीता है और मनु भाकर ने महिला 10m एयर-पिस्टल प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल किया है

बुधवार को, क्वालिफिकेशन राउंड में 580 पॉइंट्स से जीतकर, सौरभ ने फाइनल्स के लिए योग्यता हासिल करी थी।

फाइनल्स में, शुरू से ही भारत ने 0.9 पॉइंट्स से लीड ली थी जिसके चलते भारत हर राउंड में आगे रहा

‘हमारे पास चार निशानेबाज़ थे और चारों ने ही भारत के लिए पदक जीते इसे ज़्यादा, परिणाम में और कोई उम्मीद नहीं रखी जा सकती थी  मुझे नहीं लगता कि इससे पहले कभी भारतियों ने अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में ऐसा प्रदर्शन दिखाया है’, ऐसा टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बात करते दौरान एन.आर.ए.आई के अध्यक्ष रनिंदर सिंह ने कहा है