होंडुरास, पर्यावरण कार्यकर्ताओं के लिए विश्व का सबसे खतरनाक देश

0.28740500_1457073537_Berta_Caceres1
फोटो साभार: विकिमीडिया कॉमन्स

होंडुरास देश की प्रमुख पर्यावरण कार्यकर्ता बरता काथेरेस की उनके घर में घुसकर 3 मार्च को हत्या कर दी गई।
काथेरेस, होंडुरास के लोकप्रिय स्वदेशी संगठन की राष्ट्रीय परिषद की सह-संस्थापक और कोऑर्डिनेटर थीं। यह संगठन 1993 में बनाया गया था। बड़े पैमाने पर हो रही पर्यावरण क्षति को रोकने के लिए कार्यरत इस संगठन को धमकियों और हिंसा का सामना करना पड़ रहा था। इन हमलों के खिलाफ काथेरेस ने आवाज़ उठाई तो उनकी हत्या कर दी गई।
होंडुरास प्राकृतिक संसाधनों से भरा देश है। इस देश की लगभग 30 प्रतिशत ज़मीन को खनन और सस्ती ऊर्जा की मांग को पूरा करने के लिए निर्धारित किया है। इसकी पूर्ति के लिए सरकार ने देश भर में सौ से ज़्यादा बांध परियोजनाओं का निर्माण कर मूल समूहों के लिए रोज़गार बढ़ाया है।
इन्हीं बांध परियोजनाओं में से एक बांध के बनने से स्वदेशी समुदाय के लोगों को हानि का सामना करना पड़ सकता था। इसी के विरोध में काथेरेस और उनके समूह लेंका के लोगों ने मिलकर एक अभियान की शुरुआत की। जिसके बाद वह सरकार के निशाने पर आ गईं।
पिछले साल, होंडुरास को पर्यावरण कार्यकर्ताओं के लिए सबसे खतरनाक देश का दर्जा दिया गया। 2010-14 के बीच होंडुरास में 101 पर्यावरण कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है। एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, सिर्फ 2014 में ही दुनिया भर में 116 पर्यावरण कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई।
यह खबर ‘डाउन टू अर्थ’ पत्रिका में छपी है।