सीरिया को दी पंद्रह दिन मोहलत

सीरिया को सयुंक्त राष्ट्र ने अपने रासायनिक हथियार कार्यक्रम का खुले तौर पर सामने रखने की पंद्रह दिन की मोहलत दी है। सिरिया में 2011 से चल रहे गृहयुद्ध ने पिछले कुछ महीनों में नया मोड़ लिया है। सीरिया की सरकार पर नागरिको के खिलाफ रासायनिक हथियार इस्तेमाल करने का आरोप है। भले ही ये युध्ह शुरू हुआ हो लोकतंत्र के लिए पर अब इसका असर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पड़ रहा है। अमेरिका और फ्रांस जैसे शक्तिशाली देश रासायनिक हथियारो के इस्तेमाल का विरोध कर रहें हैं।  सीरिया अरब देशों में से एक देश हैं जहां ऐसे गृहयुद्ध 2010 के बाद शुरू हुए हैं। इन सब देशों ने लोकतंत्र की मांग को लेकर जंग शुरू की थी और इसे एक आन्दोलन के रूप में देखा जा रहा जिसे अरब स्प्रिंग्स कहते हैं।