सबको सूरज ही जिलाये

 

(फोटो साभार - विकिपीडिया )
(फोटो साभार – विकिपीडिया )

गर्मियों का मौसम है। आंख-भौं चढ़ाये, गुस्से में लाल सूरज बच्चों, बूढ़ों या फिर जवानों किसी को नहीं भाता है। पर सर्दियों में सूरज देखने को मन ललचाता है। लेकिन क्या आपको पता है? मौसम कोई भी हो, सूरज ही पेड़, पौधों, पशु, पंछियों और इंसानों को जिलाता है। कैसे? तो सुनो!

सूरज की किरणें को आधार बनाकर पौधे-पेड़ अपना भोजन बनते हैं। तो ये हुए ऊर्जा के पहले स्रोत। इन्हें शाकहारी जीव-जंतु अपना आहार बनते हैं। तो ये हुए ऊर्जा के दूसरे स्रोत। फिर बड़े और मांसाहारी जानवर इनको खाते हैं। तो ये हैं ऊर्जा के तीसरे स्रोत। यानि, जीव-जंतु और इंसान, पेड़ पौधे सभी सूरज की मदद से अपना खाना बनाते हैं।