सीएम योगी ने नवरात्री के चलते हिन्दू समाज के लिए लिया अनोखा और अहम फैसला

साभार: विकिपीडिया

जैसा की आप सब जानते हैं कि हिन्दुओं का प्रमुख पर्व नवरात्री जो इस साल 10 अक्टूबर से शुरू हुआ है और इन दिनों देशभर में यह पर्व बड़े ही धूम-धाम से मनाया जा रहा है इसी के चलते उत्तर प्रदेश में बी.जे.पी सरकार ने बुधवार को फैसला लिया है कि उन्होंने तीन धार्मिक संस्थानों द्वारा आए प्रस्तावों को अनुमति दे दी है और इन संस्थायों द्वारा आयोजित कार्यकर्मों को सरकार द्वारा रकम भी दी जाएगी

माँ ललितादेवी शक्तिपीठ अमावस्या मेला; जो सीतापुर के नैमिशारान्य में है, बलरामपुर का देवीपाटन तुलसीपुर मेला और मिर्ज़ापुर का विध्यवासिनी शक्तिपीठ मेला इन सबको सरकार द्वारा मंजूरी मिल गई है

एक बयान के माध्यम से पता चला है कि सरकार इन संस्थायों को 60 लाख, 48 लाख और 41.49 लाख तक की रकम प्रदान करेगी

सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में यह फैसला मंत्रिमंडल सभा के दौरान लिया गया है

पहले इन कार्यकर्मों का आयोजन नगरपालिका द्वारा कराया जाता था और अब इसकी जिमेदारी ज़िला मजिस्ट्रेट को सोंप दी गई है जनता को उचित व्यवस्था मिले और यह आयोजन अंतर-राज्यीय व अंतर-राष्ट्रीय स्तर पर भी चर्चा में रहे इसके चलते इस निर्णय को मंजूरी दी गई है

‘भक्तों को मौलिक रूप से अच्छी सुविधाएँ मिल सकें तभी सरकार ने इन कार्यकर्मों के आयोजन का ज़िम्मा खुद से लिया है’, ऐसा शेहरी विकास मंत्री सुरेश खन्ना का कहना है