पोषाहार से बंचित लोग

Walter_de_Maria_Vertikaler_Erdkilometer
बच्चा

जिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड बथनाहा, पंचायत रूपौली रूपहरा, गांव जोका वार्ड नम्बर दु। उहां आंगनवाड़ी केन्द्र कहियो से न हई। जेई कारण उहां के बच्चा अउर गर्भवती महिला पोषाहार अउर टिकाकरण से वंचित रह जाई छथिन।
उहां के शलू देवी, नगीना देवी, लीला देवी इ सब लोग कहलथिन कि हमरा सब के बच्चा भेल त बहुत दूर टेटवेट के टिका देवावे जाये के होईय त अउर टीका देली अउर न देली। बच्चा सब के पोषाहार न मिलई छई न हमरा सब के होम टेक मिलईय। सब सुविधा से वंचित हती। वार्ड सदस्या मरछीया देवी के पति सत्यनारायण पासवान कहलथिन कि आंगनवाड़ी केन्द्र के बिना एते कष्ट अउर असुविधा माई, बच्चा, किशोरी सब के होई छई। कहीं-कहीं केकरो दुरा दरवाजा पर टीका पर जाई छई लेकिन पोषाहार, होम टेक से बंचित रह जाई छथिन। त हम सी.डी.पी.ओ. के लिखित आवेदन न देली लेकिन मैखिक बहुत बेर कहली।
बाल विकास परियोजना के बड़ा बाबू मदन मोहन पाण्डे कहलथिन कि एक महिना के अंदर में आंगनवाड़ी केन्द्र खुलतई। जहां-जहां खाली जगह हई।सब समस्या दूर हो जतई।