टूट-फूट परे हैं सरकारी स्कूलन के शौचालय

बम्बिया अउर छिरौंटा के शौचालय
बम्बिया शौचालय

जिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, गांव बम्बिया अउर छिरौंटा। इं दूनौ गांव के स्कूलन के शौचालय के इमारत टूट-फूट परी है। पढ़ै वाले बच्चन का खुलै मैदान मा टट्टी पेशाब जाय का परत है।
बम्बिया गांव के प्राथमिक अउर पूर्व माध्यमिक विद्यालय के दुई शौचालय के इमारत पन्द्रह साल से खराब है। कक्षा सात अउर आठ मा पढ़ै वाली बिटिया रोशनी, प्रियंका, पिंकी, पुष्पा अउर मधु शौचालय के समस्या बताइन। कहिन कि शौचालय खराब होय से ज्यादा समस्या बिटियन का है। ऊपर से हेडमास्टर शौचालय मा तारा लगाये रहत है। हेडमास्टर नौशाद अहमद कहत है कि शौचालय का गड्ढा़ खुल गा है यहिसे गन्धात है। दूसर शौचालय बनै के मांग प्रधान से कीन गे है। प्रधान शिवचरन का कहब है कि बजट निहाय। प्रस्ताव बना के बेसिक शिक्षा अधिकारी का देहूं। उंई बजट पास कइके देहैं तबै नये शौचालय बनवाये जइहैं।
यहिनतान छिरौंटा गांव के एक सौ बीस बच्चन वाले पूर्व माध्यमिक विद्यालय के दुई शौचालय के दरवाजा, सीट, फर्स टूट हैं। पानी भी नहीं जात आय। छत नहीं परी आय। कक्षा आठ के पढ़ै वाली बिटिया कल्पना, राधा अउर अंजू कहत हैं कि स्कूल से थोई दूर मा एक बंधा है। वहिके ओट मा बिटिया खुले मैदान मा टट्टी पेशाब करैं जात हैं। या समस्या भोगत तीन साल बीत गे। सहायक मास्टर साधना कहिस कि शौचालय मरम्मत खातिर पन्द्रह हजार रूपिया हेड मास्टर अउर प्रधान के सह खाता मा परा है। प्रधान वा रूपिया निकारैं खातिर चेक मा दसखत करैं खातिर पांच हजार रूपिया मांगत है। प्रधान कहत है कि शौचालय बनै का काम अब शुरू होई जई। रूपिया लें के बात गलत है। खण्ड शिक्षा अधिकारी रामसजीवन यादव कहत हैं कि इं शौचालय पूर्व प्रधान के समय बने रहैं। अब उनका दुबारा से बनवावा जई।