आवास के बिना सर ढके खा परेशान

panvadi wजिला महोबा, ब्लाक पनवाड़ी, कस्बा पनवाड़ी, फदना रोड में रहें वालो बलराम को आरोप हे की प्रधान सचिव ओर बी.डी.ओ. ने मोये लोहिया आवास नई बनवाओ हे। जीसे ऊ बोहतई परेशान हे।
बलराम बताउत हे की मे एते चालिस साल से रहत हों। मोये पांच बिटिया ओर दो लड़का हते। जीसे तीन बिटिया ओर एक लड़का की दिल्ली मे मजदूरी कर शादी कर दई हे। मोई ओरत तारा खा चार महीना से कैंसर हो गओ हे। मोये कच्चो मकान बनो हे। मे टीन छाके आपने बच्चन को पेट भरत हों। मोय घर मे चारपाई नइयां की मे रिस्तेदारन खा बेठा सको। इलाज के लाने झांसी ले गये हते पे ऑपरेशन के लाने रूपइयां नइयां। जीसे वापस लौट आय हे। पूर्व प्रधान के तहत लोहिया आवास को फारम भरो हतो। सूची मे नाम भी आ गओ हतो। पे सचीव ओर बी.डी.ओ. ने सूची से नाम काट दओ हे। गरीबी के कारन मोये बच्चा एक-एक कपड़ा पेहने घूमत हे। फिर भी कोनऊं नई सुनत हे। हम आवास के लाने विभाग ओर अधिकारी के चक्कर लगा के थक गये हे।
प्रधान अखिलेश कुमारी को आदमी संजय दुबे बताउत हे की लोहिया आवास तो नई पे इन्दरा आवास दिबाओ जेहे। बी.डी.ओ. प्रदीप कुमार कहत हे की पात्र ओर अपात्र करें की जिम्मेंदारी हमाई आये। मेने मौके मे जाके देखो हे ऊखी चारऊ दिवार पक्की बनी हे। जीसे अपात्र घोषित कर दओ हे। सवाल जा उठत हे की का पेहले पात्र ओर अपात्र नईं दिखात हे, अधिकारी खा। जोन आंख मूंद के फारम भर दये जात हे ओर बाद मे अपात्र बताओ जात हे।

रिपोर्टर – सुरेखा राजपूत