अरे! ऐसा भी पेड़ होता है क्या?

पेड़ के एक हिस्से में लगा है आम दूसरा हिस्सा है खाली
पेड़ के एक हिस्से में लगा है आम दूसरा हिस्सा है खाली

जिला वाराणसी। अभी तक आपने बहुत आम खाए होंगे और बहुत सारे आम के पेड़ भी देखे होंगे। आम के पेड़ में एक बात होती है कि एक साल अगर आम लग गया तो अगले साल नहीं लगेगा। लेकिन क्या आपने कोई ऐसा पेड़ भी देखा है जिसमें हर साल आम लगते हों? सुनकर अजीब लग रहा है ना लेकिन एक ऐसा पेड़ है जिसके आधे हिस्से में एक साल और दूसरे आधे हिस्से में दूसरे साल आम लगता है।
download copyवाराणसी के लोहता क्षेत्र में एक ऐसा पेड़ है जिसमें हर साल आम लगते हैं। इस पेड़ में कई शाखाएं निकली हुई है। पेड़ के एक तरफ की शाखाओं में एक साल आम लगता है तो दूसरी तरफ के शाखाओं में दूसरे साल आम लगता है।
लालजी मौर्य की जमीन पर ये पेड़ अपने आप में अनोखा है। उनका यंहा पर खेत भी है। उनके पुत्र बताते हैं कि करीब चालीस साल पहले उन्होंने यंहा पर यह पेड़ लगाया था लेकिन जब फल आना शुरू हुआ तो अलग-अलग हिस्सों में हर साल आता था। यह लंगड़ा प्रजाति का आम है।
यहां के लोग बताते हैं कि हमने आज तक ऐसा पेड़ नहीं देखा है जिसमें हर साल आम लगते हों लेकिन अलग-अलग हिस्सों में। जब से हम इस पेड़ को देख रहें है इसमें हर साल ऐसे ही आम लगते हैं।