खबर लहरिया की ख़ास नज़र ग्रामीण स्वास्थ्य पर – बाँदा अस्पताल की गैर जिम्मेदारी का पर्दाफाश

जिला बांदा, ब्लाक बिसंडा, गांव ओरन हेंया के रहै वाली फूलकुमारी के मउत 4 नवम्बर बच्चा होत समय होइगे रहै परिवार वालेन का आरोप रहै कि नर्से 10 हजार रुपिया मांगत रहै न दे मा फूलकुमारी का इलाज नहीं करिन।
जेहिसे वहिकर मउत होइ गे हैं अबै तक या केस के कउनौ कारवाही नहीं भे आये। सरकारीअस्पताल मा आबै भी इनतान के व्यवस्था हैं की घटना होय के बाद भरोसा बस दीन जात हैं कारवाही कुछौ नहीं होय।
फूलकुमारी का जेठ चुनबाद प्रसाद वर्मा का कहब है कि दिवाकर बाबूजी 7 दिसम्बर बच्चन के सहारा खातिर कारवाही जल्दी होय। फूलकुमारी का मनसवा राजकरन बताइस कि अस्पताल से कउनौ सूचना नहीं ंआवत तौ हम का करी।
आठ दिना बाद पोस्टमार्टम के रिपोर्ट दे का कहिन है जउन डी, एम आदेश करि हैं वहै होई
देवरानी रानी का कहब है कि जउन नर्स रुपिया मांगत रहै वा नर्स अउर डाक्टर का सजा जरुर मिले का चाही। फूलकुमारी का छोट लड़का दुखी होइ के कहत रहैं कि हमार मह तारी के जउन डाक्टर जान लिहिस है वहिका सजा मिले का चाही।

रिपोर्टर- मीरा देवी

07/12/2016 को प्रकाशित