खबर लहरिया Blog हैदराबाद के IRS ऑफिसर ने बदला लिंग और नाम, सरकार ने दी सहमति

हैदराबाद के IRS ऑफिसर ने बदला लिंग और नाम, सरकार ने दी सहमति

एम अनुकाथिर सूर्या (पूर्व एम.अनुसूया) ने केंद्र सरकार को अपना नाम और जेंडर बदलने के लिए पत्र दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि सरकारी दस्तावेजों में उनका जेंडर महिला से बदलकर पुरुष कर दिया जाए। उनका नाम एम. अनुसूया की जगह एम. अनुकाथिर सूर्या कर दिया जाए। केंद्र सरकार ने 9 जुलाई को उन्हें नाम और जेंडर बदलने की इजाजत दी थी।

Hyderabad's IRS officer changed gender and name, government gave consent

                                                               एम अनुकाथिर सूर्या (पूर्व एम.अनुसूया) की तस्वीर (फोटो साभार – सोशल मीडिया)

हैदराबाद में तैनात IRS अफसर एम.अनुसूया (IRS M Anusuya) को केंद्र सरकार ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए अपने सभी आधिकारिक रिकॉर्ड में अपना नाम और लिंग बदलने की अनुमति दी है। अब उनका नाम एम अनुकाथिर सूर्या (M Anukathir Surya) है। भारतीय सिविल सेवा व इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि केंद्र की तरफ से सिविल सेवा के किसी अफसर को लिंग व नाम बदलने की मंज़ूरी दी गई है। केंद्र ने अपने इस फैसले को लैंगिक समानता की दिशा में एक बड़ा कदम बताया।

ये भी पढ़ें – पितृसत्ता की वजह से महिला ने 36 साल पुरुष के वेश में जीया अपना जीवन

नाम व लिंग बदलने को लेकर पत्र

एम अनुकाथिर सूर्या (पूर्व एम.अनुसूया) ने केंद्र सरकार को अपना नाम और जेंडर बदलने के लिए पत्र दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि सरकारी दस्तावेजों में उनका जेंडर महिला से बदलकर पुरुष कर दिया जाए। उनका नाम एम. अनुसूया की जगह एम. अनुकाथिर सूर्या कर दिया जाए। केंद्र सरकार ने 9 जुलाई को उन्हें नाम और जेंडर बदलने की इजाजत दी थी।

एम अनुकाथिर सूर्या के बारे में

फर्स्ट पोस्ट की प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, एम. अनुसूया ने दिसंबर 2012 में चेन्नई में बतौर एसोसिएट कमिश्नर काम शुरू किया था। साल 2018 में उन्हें प्रमोट करते डिप्टी कमिश्नर बना दिया गया और पिछले साल उनका हैदराबाद में तबादला हो गया, जहां वे अभी काम कर रहे हैं।

35 साल के सूर्या ने मद्रास इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी से इलेक्ट्रॉनिक कम्युनिकेशन में बैचलर डिग्री हासिल की है। इसके अलावा साल 2023 में नेशनल लॉ इंस्टीट्यूट यूनिवर्सिटी, भोपाल (National Law Institute University)से साइबर साइबर लॉ और फॉरेंसिक साइंस में भी पीजी डिप्लोमा भी किया है।

 

यदि आप हमको सपोर्ट करना चाहते है तो हमारी ग्रामीण नारीवादी स्वतंत्र पत्रकारिता का समर्थन करें और हमारे प्रोडक्ट KL हटके का सब्सक्रिप्शन लें’

If you want to support our rural fearless feminist Journalism, subscribe to our premium product KL Hatke

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *