फुकी परी मरकरी, मोहल्ला में छाओ अंधियारो

DSCN0828जिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव सूपा, दलित बस्ती। ई गांव सन् 2013 में लोहिया समग्र ग्राम पंचायत भओ हतो। जीमें रास्ता, नाली, कालोनी के साथ बिजली के व्यवस्था भी कराई गई हती। जीमे दलित बस्ती में चार मरकरी लगी हती, एक जलत हे। बाकी तीन मरकरी दो-चार दिन जले खे बाद से फुकी परी हें।
छिद्दू ओर हरिश्चन्द्र ने बताओ कि हमाये मोहल्ला में चार महीना पेहले चार मरकरी लगी हती। जोन तीन-चार दिन जले खे बाद फुक गई हें। जीसे पूरो मोहल्ला अंधियारे में रहत हे। पेहले तो सरकार एसे सपना दिखाउत हे कि लागत हे कि अब हमाओ गांव शहर जेसो बन जेहे, पे बाद में ऊ गांव को गांव रह जात हे। जभे मरकरी लगी हती। तो रात-बिरात निकरे में भी आराम रहत हतो। आदमी अपने-अपने द्वारे बेठो रहत हतो, पे अब मरकरी फुके से बोहतई परेशानी आउत हे। एई से लागत हे कि मरकरी बन जाये तो नींक हो जेहे।
प्रधान कौशल ने बताओ कि मरकरी फुकी होय की जानकारी मोये नइयां। अगर मोये एते मरकरी फुकी होय की जानकारी आई होती तो अभे तक मरकरी सुधरा दई जाती। अब सूचना मिल गई हे तो जल्दी ही ओते की मरकरी सुधरा दई जेहे।