जब मशीने ही बंद तो आधार कार्ड का आधार कहां मिलें?

जिला बांदा,कस्बा बांदा स्कूलन मा बच्चन के एडमीशन का काम या समय चलत है जेहिमा आधार कार्ड लगत लागब जरूरी बताना गा है। पै उत्तर प्रदेश मा या समय आधार कार्ड के दुकानन का रजिस्ट्रेशन नहीं होत आय।  जेहिसे जउन दुकान है उंई मड़इन से मनमानी रुपिया वसूलत है।जिला बांदा,कस्बा बांदा स्कूलन मा बच्चन के एडमीशन का काम या समय चलत है जेहिमा आधार कार्ड लगत लागब जरूरी बताना गा है। पै उत्तर प्रदेश मा या समय आधार कार्ड के दुकानन का रजिस्ट्रेशन नहीं होत आय।  जेहिसे जउन दुकान है उंई मड़इन से मनमानी रुपिया वसूलत है। बृजकिशोर बताइस कि रिजल्ट अउर आधार कार्ड मा बच्चन के अलग-अलग जन्मतिथि लिखी है जेहिसे स्कूल मा ठीक करावे का कहा गा है। जउन मड़ई ज्यादा रुपिया देत है वहिके आधार कार्ड जल्दी बन जात है जउन गरीबन के लगे रुपिया नहीं आय उंई सुबेरे से शाम तक लाइन मा लाग रहत है बरौला गांव के फरजाना बताइस कि तीन बच्चन के आधार कार्ड बनवावै खातिर कइयौ दिन से लउटत हौं आवे जाए मा 30 रुपिया लागत है बच्चन का किराया अलग लागत है। नरैनी का रामकिशोर  बताइस कि हम जंगल मा बसे है हुंवा से आधार कार्ड बनवावै अइत है।  गढ़ीवा के रामआसरे का कहब है कि कल आधार कार्ड बनवावै आये रहेव तौ हमें लउटा दिहिन है दूसरे दिन फेर बोलाइन है। साइबर कैफे के राजकुमार अउर जितेन्द्र कुमार का कहब है कि नवा आधार कार्ड बनवावै का रुपिया नहीं लागत आय। आधार कार्ड सुधरावै खातिर 25 रुपिया लागत है यहिसे हमार विजली अउर नेट खातिर रुपिया निकलत है। 12 जुलाई से हमार दुकान बंद है। हमार कमीशन पड़ा है यहै कारन भारत सरकार हमार रजिस्ट्रेशन बंद कइ दिहिस है।

रिपोर्टर- गीता देवी

Published on Jul 21, 2017