गोपरा: टी बी से परेशान गाँव, पर ये नहीं बना चुनावी मुद्दा #UPElections2017 #uppolls2017

जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, गांव गोपरा काम बोलता है, बटन दबाओ फूल खिलाओ, बहन जी का आवे देव। या नारा आय अलग—अलग पार्टी का। पै गोपरा गांव मा टी.बी .के बीमारी फइल है का या समस्या का कउनौ उम्मीदवार चुनावी मुददा बनइहै, विधानसभा तक गांव के आवाज पहुंचइहै ,या तौ आवै वाला समय बतई।
भगवती प्रसाद अउर विनोद कुमार समेत कइयौ मड़इन का कहब है कि अक्टूबर मा हमार गांव मा.टी .बी .के जांच भे रहै। तबै से कुछौ नहीं भा आय। जबै पिछले दरकी चुनाव भा रहै तौ ट्यूबेल लगवावै का कहा गा रहै। पै अबै तक ट्यूबेल नहीं लगवावा गा आय। अब फेर से वोट मांगे आवत है पै का होइ वोट दे से जब हमार समस्या नहीं सुनत आहीं। उम्मीदवार आवत है तौ कउनौ कहत है कि हाथी मा देव तौ कउनौ कहत है कि फूल का देव या कहि के चले जात है। हमार समस्या का कउनौ ध्यान नहीं देत आहीं। हमार गांव मा अस्पताल नही आय। दवाई खातिर 18 किलोमीटर दूरी नरैनी जाए का पड़त है। टैक्सी या बैलगाड़ी से जइत हन।टैक्सी वाले 3 सौ रुपिया किराया लेत है अस्पताल मा 2सौ लाग गें है एक दरकी मा पांच सौ रुपिया लाग जात हैं। जउन सरकारी एम्बुलेन्स चले है उंई हेंया नहीं आवत हैं। हमार समस्या का कउनौ नेता ध्यान देत आय न यहिकर मुददा उठावत नाहीं।
भाजपा के नेता कहत है कि जबै हमार सरकार बनी तौ गोपरा गांव मा अस्पताल बनवावा जई वहिका स्वास्थ्य के पूर सुविधा दीन जई।
आर एल डी.के उम्मीदवार रमेश चन्द्र का कहब है कि मिड डे मील जइसे योजना बना के सरकार बच्चन का भिखमंगा बनावे के साजिस रचिस है ।

रिपोर्ट- खबर लहरिया ब्यूरो

Published on Feb 20, 2017