हिस्सा न देय पे करत मारपीट

गीता बताउत बात
गीता बताउत बात

जिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव रहूनिया बिहारी। एते के गीता को आरोप हे कि मोई तीन बिटिया हे। जीसे ससुराल वाले लड़का न होंय को ताना देत हे। ऊ पांच साल से मायके में रेह के चार साल से खाना खर्चा को मुकदमा लड़त हे।
गीता कहत हे कि मोई शादी लगभग सोलह साल पेहले बबलू के साथे भई हती। मोये तीन बिटिया हे, ओर लड़का नइयां। जेठ के लड़का हे जीसे ससुराल वाले कहत हे कि आपन हिस्सा की पूरी जमीन हमाये लड़का के नाम करा देय। में देय से माना करत हों तो आदमी बबलू मारपीट करत हतो। में अपने बिटियन खा लेके पांच साल पेहले मायके शाहपहाड़ी आ गई । बबलू मोये लिबाउन नई आउत हतो। जीसे मेने चार साल पेहले खाना खर्चा को मुकदमा लगा दओ हे। मे मजदूरी कर आपन ओर बच्चन को पेट चलाउत हो।
आदमी बबलू कहत हे की गीता थाई-थोई बातन खा लेके परिवार वालेन से खुद लड़ाई करत हती। ऊखे कोनऊ कछू नईकहत हतो। अपने से मायके आ गई हे, ओर मुकदमा भी लगा दओ हे। में लिवा जाये खा तैयार हों पे गीता खुद नई जात हे।