हंसे तो फंसे

 

(फोटो साभार - विकिपीडिया )
(फोटो साभार – विकिपीडिया )

 

पंजाब। टी.वी. में हमेशा ठहाके लगाने वाले पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी नवजोत सिंह सिद्धू को खोजकर अपने चुनावी क्षेत्र में लाने पर एक गैर सरकारी संस्था ने दो लाख का पुरस्कार देने की घोषणा की थी। सिद्धू इस समय अमृतसर से भाजपा सांसद हैं।
पर अफसोस यह इनाम किसी को नहीं मिल पाया क्योंकि यह खबर सुनते ही सिद्धू खुद ही सबके सामने आ गए। उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र में जाकर लोगों के बीच अपनी सफाई कुछ इस तरह दी – मैं एक ईमानदार व्यक्ति हूं, मैं आपको बताऊंगा कि इतने दिन तक मैं कहां था। मैं मुंबई गया था, पैसा कमाने। इस कारण मैं इतने दिनों से अपने चुनावी क्षेत्र में नहीं आ सका।
लोगों ने उनसे ये सवाल भी पूछा कि आखिर वे नेता क्यों बने थे, मुंबई जाने के लिए या जनता का भला करने के लिए। कई हास्य टी.वी. कार्यक्रमों में दिखाई देने वाले सिद्धू के पास इन सवालों का कोई उत्तर नहीं था। वैसे तो नवजोत सिंह जब से नेता बनें हैं, तब से टी.वी. पर ही दिखाई पड़ते हैं। पर इस बार तो लोगों के सवालों में फंस गए सिद्धू। काश देश के बाकी नेताओं की खिंचाई इस तरह हो पाए। आखिर कहां गायब हो जाते हैं चुनाव जीतने के बाद?