सेहतमंद मां और बच्चा- केन्द्र बन्द, किते से मिले पोषाहार?

आंगनवाड़ी केन्द्र लटकत ताला
आंगनवाड़ी केन्द्र लटकत ताला

जिला महोबा, ब्लाक पनवाडी, गांव तेइया। ई गांव में दो आंगनवाडी केन्द्र चलत हें। जीमे एक केन्द्र तो खुलत हे ओर दूसर केन्द्र कभऊं नई खुलत आय। जीसे ऊ केन्द्र में आये वाली किशोरी ओर गर्भवती ओरतन खा पोषाहार नई मिलत आय।
रामकली, उमरिया ओर माया ने बताओ कि जा दूसर आंगनवाडी केन्द्र नई खुलत आय। काय से आंगनवाडी कार्यकत्री ई गांव की नोय। एई से ऊ आंगनवाड़ी केन्द्र नई आउत आय।
कली बताउत हे कि जोन पंजीरी ओर पोषाहार ओरतन खा आउत हे ऊखे आंगनवाड़ी ऊपरई बेंच लेत हे। सरकार गर्भवती ओर दूध पियाये वाली ओरतन खा पंजीरी ओर दरिया जेसे तमाम चीजे देत हे, पे आंगनवाड़ी के लापरवाही से कछू लाभ नई मिलत पाउत आय। केन्द्र नम्बर एक की सहायिका उर्मिला बताउत हे कि आंगनवाड़ी राजकुमारी हमेशा केन्द्र आउत हे। पंजीरी ओर पोषाहार भी देत हे। दूसर केन्द्र की आंगनवाड़ी की बारे में कछू नई बता सकत हों।
प्रधान के भतीजे भूपेन्द्र ने बताओ कि आंगनवाड़ी केन्द्र की जांच कराये खे लाने केऊ दइयां दरखास भेजो हतो, पे कोनऊ अधिकारी जांच करें नई आउत आय।
सुपरवाइजर गीता राजपूत ने बताओ कि में अभे नई आई हों। मोये ऊखे बारे में कोनऊ जानकारी नइयां। अगर गांव वाले सूचना देहें तो जांच जरूर कराई जेहे, ओर आंगनवाड़ी के ऊपर कारवाही भी करी जेहे। काय से जभे से में आई हो ऊ आंगनवाड़ी मीटिंग में भी नई आउत आय। तो केन्द्र में का जात होहे।