सुबिधा से बदलैं सोच

अम्बेडकर नगर जिला मा मनईन के ताई नई हेल्पलाइन सुबिधा 15 फरवरी 2014 का पुलिस महा निदेषक रिजवान अहमद के द्वारा लागू होये। जउने से अगर केहू कै मोबाइल चोरी होय जाये तौ वहि नम्बर पै मिष काल करै से रिपोर्ट दर्ज होये। अउर थाना तक न जाए का परे।
मेहरारु के ताई 1090 अउर 1091 नम्बर बाय जवन डायल करै से उनकै समस्या सुनिके कार्यवाही कीन जाथै। अउर सुबिधा दीन जाथै। वही तरह अगर केहू मेहरारु का सतावाथै या फोन पै परेषान कराथै तौ वका पकड़के कार्यवाही कीन जाथै। यतनी सब सुबिधा बाय लकिन मेहरारु, लड़की अबहीं भी सुरक्षित नाय अहैं। कहूं तेजाब डाल दिया जाथै तौ कहूं उनके साथे बलात्कार हुवत बाय। चाहे वै जउने उमर कै हुवय।
आखिर मनइन मा कब बदलाव आये अउर उनकै सोंच कब बदले? का मेहरारु का सम्मान भरी जिन्दगी जियै कै हक नाय बाय। अगर सरकार के यहि सोंच से समाज मा बदलाव आय जाए तौ बहुतै ठीक होय जाए। अउर यस करै वालेन का सबक मिल जाए। यतनी-यतनी सुबिधा मिलत बाय लकिन मनई कै सोंच नाय बदलत बाय।