साल भर का खेहे किसान

बरबाद मटर खे फसल
बरबाद मटर खे फसल

ई गांव के हजारन किसान आदमियन ने आपन खेती में गेहू, मटर, सरसों जेसी केऊ फसलें बोई हती। जोन 27 फरवरी से 1 मार्च 2014 तक होये वाली बेमौसम बारिश से बरबाद हो गई हें। जीखी लिखित दरखास गांव खे किसानन ने 11 मार्च 2014 खा चरखारी तहसील में एस.डी.एम. पूनम निगम खा दई हे। ओर साथे आपन बरबाद फसल भी दिखाई हे।
कपूरी ओर लच्छी ने बताओ कि हम गांव के आदमी खेती किसानी से ही आपन परिवार चलाउत हें। ई साल बे मौसम भई बारिश ने किसान खा बेमोत मार दओ हे। सुखनन्दन ने बताओ कि मोये पचास बीघा खेती हे। जीमें बीस बीघा में चना बोओ हतो। काय से चना की पैदावार ज्यादा होत हे, ओर मंहगा बिकत भी हे, पे अब खेतन में जाये तो फसल देख के आंसू गिरे लागत हें। जीखी खेती दीपावली के पेहले बो गई हती। ऊमें तो एक दो घेंटी लग गई हें, पे जीखी फसल दीपावली खे बाद बोई गई हे, ऊ हरीरो ठाड़ो हे। सोचत हते कि फर जेहे, पे फसल काटे खा सीजन आ गओ कभे फरहे। एई से गांव के लगभग डेढ़ सौ आदमियन ने एस.डी.एम. खा दरखास दई हे। एस.डी.एम. पूनम निगम बताउत हें कि मेंने पूरे तहसील की रिपोर्ट बना खे शासन खा भेज दई हे। सीमान्त ओर लघु सीमान्त किसान खा छोड़ के सब खा एक एकड़ जमीन को मुआवजा दओ जेहे।