साठ साल पहले जमीन गया, अब फसल गई लेकिन नहीं मिल रहा मुआवजा, झाँसी के बबीना में

जिला झांसी, ब्लाक बबीना के तीस गांव के आदमियन की जमीन सन 1992 में सैनिक छावनी के लाने ले लई ती। लेकिन तब से अब तक उन आदमियन को मुआवजा नइ मिलो। जे आदमी एस डी एम् के पास मुआवजा की मांग कर रए। और कछू आदमियन को जमीन मुआवजा के तौर पे दई भी गयी तो अब बा जमीन पे भी सड़क निकार दई। जी से उनकी जमीन में लगी फसल को भी बर्बाद कर दओ।
महेंद्र शर्मा ने बताई के सन 1971 में हमाय बाईस गांव की जमीन ले लई ती जब भारत और पाकिस्तान की लड़ाई भइ तो सरकार ने इते सुरक्षा के लाने बबीना छावनी बनाई। बाईस गांव को भगा के तीस गांव में जघा दे दई ती सरकार ने और हम ओरन को जमीन के बदले जमीन दई ती तो अस्सी प्रतिशत तो आदमी अच्छी तरह से रहने लगे ते लेकिन जो बीस प्रतिशत हे उन्हें आज तक जमीन नइ मिली।
रामवती और विमला ने बताई के सरकार अच्छो नइ कर रई हमने दरखास भी लगाई ती कचहरी गये ते नइ माने बोले सरकारी सड़क हे बनने हे। चार पांच बार गये कत के अबकी तारीख पे काम होजेहे जोई कत रत भगा देत।
लालाराम ने बताई के हमे पचास साल हो गयी हमाई जमीन तो ले लई लेकिन सरकार ने न हमे पट्टे दए न कछू रोजगार दओ हमे दो साल हो गयी कचहरी में आत आत और कछू आदमियन की दे दई।

रिपोर्टर- सोनी

 

18/05/2017 को प्रकाशित