सही क्या है?

रीगा चीनी मील
रीगा चीनी मील

जिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड रीगा चीनी मील लगभग छः महिना चालू रहता है और छः महिना बंद रहता है। जब चालू होता हे तब से बंद होन तक हमेसा जाम लगता है। यह जांम लगभग दो तीन साल से ज्यादा लगता है। कारण कि जहां गाड़ी लगती थी वहां खेल का मैदान है। जिस कारण बच्चे खेलते है गाड़ी नहीं लगाने देते है। लेकिन चीनी मील के प्रबंधक को कहना है कि वह मील का जमीन है।
जाम लगने पर टेम्पू चालक अउर गाड़ी के ड्राईवर का कहना है कि जब जाम में फसते है तो घण्टो जाम में रहना पड़ता है। अरबिन्द कुमार का कहना है कि अगर किसी के पास मरजेन्सी हो या कोई दूसरा रूट पता न हो तो मरजेन्सी के साथ खतरा भी हो सकता है।
रीगा द्वितिय पंचायत के मुखिया पति सुरेश बैठा और कुशमारी मुखिया के बेटा अंश का कहना है कि गन्ना का गाड़ी खेल के मैदान में लगता था लेकिन अब बच्चा लोग नहीं लगाने देते हैं। कारण है कि लगभग चार पांच साल पहले मील ग्यारह एकर जमीन अपना नाम से बंदोबस्त करवा लिया है। इसके लिए केस हाईोिर्ट से चल रहा है।
चीनी मील के प्रबंधक अजय त्रिपाठी का कहना है कि तीन जिला अधिकारी, डिप्टी डायरेक्टर पटना हाई कोर्ट से 1964-65 केस चल रहा था। हाई कोर्ट से हमे आदेश मिल चुका है कि यह चीनी मील का मैदान है। लेकिन लोग परेशान करने के लिए गाड़ी नहीं लगाने देते हैं। इसके उचित व्यवस्था के लिए जिला पद ाधिकारी और पुलिस अधिकक्षक को कई बार आवेदन दिये। वे भी सिर्फ आश्वसन देते हैं।
जिला पदाधिकारी डाॅक्टर प्रतिमा वर्मा का कहना है कि इसको लेकर दो बार बैठक हूई है। हाई कोर्ट से केस चल रहा है। अभी कोई फैसला नहीं आया है। लेकिन समाधान जल्द किया जाएगा।