ससुराल वालेन के ऊपर जलायें को आरोप

mahila mudda copyजिला महोबा, ब्लाक जैतपुर, गांव बिहार। एते के 24 साल की ओरत सुनीता की मोत 24 अपै्रल खा आगी लागे से मोत होई हती। मायके वाले ससुराल वालेन के ऊपर जानबूझ के मिट्टी को तेल डार के जलायें को लगाउत हे। ईखी दरखास कुलपहाड़ कोतवाली मे दई हे।
बछेछर कलां को रहे वालो सुनीता को जीजा ब्रजलाल बताउत हे की तीन साल पेहले सुनीता की शादी इन्द्रजीत के साथे करी हती। पेहले इन्द्रजीत शराब पियत हतो, सुनीता के साथे मारपीट करत हतो। अगर कोनऊ से ससुराल में बोलत हती तो गली गलौज ओर गलत आरोप लगाउत हतो। ओर जा भी बताओ की 24 अपै्रल खा ससुराल के मोहल्ला वालेन को फोन गओ ओर पता चलो की इन्द्रजीत ने पेहले सुनीता के साथे मारपीट करी हे ओर फिर मिट्टी को तेल डार के आगी लगा दई हे। बाहर से दरवाजा लगा के भाग गओ हे।
मताई राजाबाई बताउत हे की मारे के एक हफता पेहले सुनीता से बात करी हती। सुनीता बताउत हती की इन्द्रजीत मारपीट करत हे ओर एक लाख रूपइया की मांग भी करत हे। मोये रिस्तेदारन ने बताओ की सुनीता मर गई हे। ईखी दरखास 25 अपै्रल खा कुलपहाड़ कोतवाली में दई हे।
कुलपहाड़ कोतवाल सतीश चन्द्र बताउत हे की सुनीता के ससुराल मे कोनऊ नई हतो। ससुर बाहर हे इन्द्रजीत फरार हे। इन्द्रजीत के ऊपर 498 ए ( दहेज उत्पीड़न) 304 बी 3/4 दहेज अधिनियम के तहत मुकदमा लिख गओ हे।