सरकारी चकरोट के नाय भै पटाई

sadakजिला अम्बेडकर, ब्लाक कटेहरी, गांव रग्घूपुर। अकबरपूर से फैजाबाद जाय वाले सड़क के उत्तर दिशा से रेलवे लाइन तक चकरोट संख्या 48 लगभग दुई सौ लम्बा बाय एक लाठा चैड़ा अहै लकिन यकै पटाई नाय होय पावत बाय। जबकि कइयो दाय नापा गै पर फैसला नाय होत बाय।
गांव वाले मनई कै कहब बाय कि चकरोट पष्चिम मा मीठू यादव कै घर बना बाय। अउर पूरब मा सुधाकर तिवारी कै पांच बीघा खेत बाय वही के बीच रास्ता बाय। यहि से चकरोट पटाई नाय होय पावत बाय। कइयो दाय प्रधान, लेखपाल, कानूगो आय के नाप चुका बाटिन। यकरे बावजूद खण्डजा नाय लाग पावत बाय।
तिवारी कै कहब बाय कि हमार जेतना जमीन कै चेक अहै ओका छोड़ के नापै। पै यादव कै घर चकरोट मा आवाथै। वैह तरफ रामनिहाल मिश्र, ज्ञानी मिश्र, लल्लूराम जैसे लगभग बीस जने कै खेत बाय। सबका वही रास्ता से आवै जाय का रहाथै। चकरोट न हुए से मेड़े परकी सब मनई का जाय कापरत बाय बोझ लइके मेड़ परकी नाय चल मिलत। दुइनो ओर से गन्ना बोय दिया जाथै। खेत कौ जोताई करै खातिर टैक्टर या बैल नाय लै जाय मिलत।
प्रधान राम अकबाल यादव बताइन कि चकरोट पटावै कि ताई कइयो दाय नपवायन लकिन पूर नाय होय पावा। अब चुनाव के बाद फिर से नपवाउब।