सप्लाई नल अउर कुंआ के सफाई के समस्या

DSC08824जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, गांव रामपुर माफी। हिंया लगभग छह बरस से पानी के टंकी हवै। वहिमा एक महीना मा पन्द्रह दिन सप्लाई नल मा पानी आवत हवै तौ पन्द्रह दिन नल मा पानी नहंी आवत हवै। या कारन मड़इन का पानी के समस्या से जूझैं का परत हवै। या समस्या लगभग दुइ बरस से हवै।
गांव के जानकी शरण अउर कल्लू का कहब हवै कि पानी के सप्लाई टंकी देखै खातिर सफेद हाथी जइसे ठाढ़ हवै। सप्लाई नल गर्मी मा पानी नहीं आवत हवै। गर्मी मा पानी के ज्यादा जरूरत रहत हवै। जाड़ा का समय तौ पानी के कम जरूरत परत हवै। सप्लाई नल मा पानी नहीं आवत हवै तौ आधा किलो मीटर दूर पानी भरैं जइत हन। अगर सप्लाई नल मा पानी आवैं लागै तौ पानी के समस्या से न जूझै का परी।
जल परियोजना इकाई के अधिकारी राजेश गुप्ता कहिन कि पता कइके पानी के सप्लाई के समस्या खतम कीन जई। जिला मा कुल उन्चास पानी के टंकी हवै। सबहिन मा पानी के सप्लाई होत हवै।
जिला चित्रकूट, ब्लाक मऊ, गांव कलचिहा, मजरा सुचेता कालोनी। हिंया एक कुंआ हवै। वा कुंआ के सफाई लगभग पांच बरस से नहीं भे आय। यहै कारन मड़ई लगभग आधा किलो मीटर दूर रोड के किनारे हैण्डपम्प से पानी लें जात हवैं। कुंआ के सफाई करावैं खातिर कइयौ दरकी प्रधान पुष्पा देवी अउर सचिव रूपनारायण से कहा गा, पै कउनौ नहीं सुनत।
या समस्या का लइके प्रधान पुष्पा देवी के मनसवा सुखेन्द्र से बात भे। वहिकर कहब हवै कि कुंआ के सफाई करवा दीन जई।
मजरा के अनीता, गुलाबकली, गुडि़या अउर सीताराम का कहब हवै कि हमरे मजरा मा एकौ हैण्डपम्प नहीं आय। एक कुंआ हवै। वहौ कूड़ा से भरा परा हवै। कुंआ का पानी पियै लायक नहीं हवै। कुंआ के सफाई होब जरूरी हवै।