सचिन और क्रिकेट एक दूसरे के बिना अधूरे हैं!

फोटो साभार- क्रिकेट अड्डा
फोटो साभार- क्रिकेट अड्डा

क्रिकेट का नाम आते ही सचिन की याद आ जाती है। ऐसा लगता है जैसे, सचिन और क्रिकेट एक दूसरे के बिना अधूरे हैं।
सचिन तेन्दुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को मंुबई में हुआ था। आज हम सचिन के बारे में आपको कुछ अनजानी बातें बता रहे हैं।
क्या आप जानते है कि सचिन का नाम सचिन क्यों पड़ा? दरअसल,सचिन के पिता रमेश तेन्दुलकर को संगीतकार सचिन देच बर्मन बहुत पसंद थे। उन्हीं के नाम पर सचिन का नाम पड़ा। सबसे पहले सचिन तेन्दुलकर कंागा लीग में मुंबई के जॅान ब्राइट क्रिकेट के लिए खेलेे थे। खेल के शुरूआत में सचिन एक तेज गेंदबाज बनना चाहते थे लेकिन डेनिस लिली ने उन्हें मना कर दिया और कहा कि वो बल्लेबाजी पर अपना ध्यान लगाएं।
जब सचिन बल्लेबाजी करने उतरते थे तो कोच स्टम्प के ऊपर एक सिक्का रखते थे जो गेंदबाज सचिन को आउट करता वो सिक्का उसी का हो जाता था, अगर सचिन आउट नहीं होते तो वो सिक्का सचिन का होता था।