शौचालय का रुपिया न मिलै से तहसील मा दरखास

जिला बांदा, कस्बा नरैनी। हेंया 3 मई का डी.एम. का दीन गे दरखास मा लोग आरोप लगाइन कि 2015 मा नगर पंचायत कइत से लगभग साढ़े नौ सौ शौचालय के फारम भरे गे रहैं। जेहिके बनै खातिर लोगन का नोटिस भी मिली रहै। अब 6 महीना होइगे शौचायल खातिर आपन आपन घरन अउर दुआरन मा गड्ढा खोद लीन हैं, तौ कुछ लोग आधा अधूरा बनवा भी लिहिन हैं। रूपिया आज तक नहीं आवा।
केशा, बच्ची, मुन्नी सोन का कहब है कि हम लोगन के गड्ढा खुदे परे हैं। हम गरीब मड़ई अब कहां से रूपिया पाई कि अपने से पूरा शौचालय बनवा के तैयार कइ देन। विभाग के अधिकारी तौ हुसका के पीछे होई जात हैं। गड्ढा खुदे परे हैं, तौ रात बिरात जानवर अउर मड़इन के गिरैं का डेर बना रहत है। एक तौ सरकार आठ हजार रूपिया देत है। वा भी पहिले मड़ई अपने से रूपिया लगा के पूरा शौचालय तैयार करै तबै मिली। अब गरीब लोगन के घर मा यतना रूपिया निहाय कि पूरा बनवा के तैयार करैं तौ अधिकारिन के चक्कर लगावत फिरत हैं। नरैनी चेयर मैन सुनीता के मनसवा राकेश चैरसिया कहिन कि नरैनी नगर मा लगभग साढ़े नौ सौ शौचालय बनै का नोटिस दीन गे है। वोतने मा 40 परसेन्ट लोगन के कार्य स्थल, अध बने अउर पूरे बने के फोटो कापी हमरे पास जमा है,पै कउनौ अधिकारी हम लोगन से नहीं मांगत न ही बतावत कि कहां जमा करैं का है, ता जमा कइ देन अउर रूपिया आवैं लागै। या कारन उंई कागज नगर पलिका मा ही रखे हैं।

रिपोर्टर – गीता