‘वादे नहीं इरादे से मिलेगा वोट’

bijli 1जिला अम्बेडकर नगर, ब्लाक कटेहरी, गांव टेउवा जलालपुर। गांव में मजरा भरपुरवा दलित बस्ती है। इस बस्ती में आज तक बिजली नहीं पहुंची है। जबकि इस बस्ती को छोड़कर गांव की अन्य बस्तियों में बिजली है। दलित बस्ती के एक हज़ार वोटरों ने अबकी बार तय किया है कि वह उसी उम्मीदवार को वोट देंगे जो उन्हें बिजली देगा।
इस बस्ती में रहने वाले सियाराम, कर्मराज और संवारी का कहना है कि हमारे बच्चे आज भी अंधेरे में पढ़ाई करते हैं। समारोह भी लालटेन की रोशनी में करते हैं। इसी बस्ती में रहने वाली विमला देवी, सुसमा देवी और नीरज ने बताया कि 8 अप्रैल को हम लोगों ने जि़ले में इस मुद्दे को लेकर प्रदर्शन कर सभी उम्मीदवारों को चेतावनी दे दी है। हमने साफ कर दिया है कि इस बार चुनावी वादों से काम नहीं चलेगा। वोटिंग से पहले पहले हमें बिजली चाहिए। अगर नहीं पहुंची तो हम किसी को वोट नहीं देंगे। हमने एक बैनर भी टांग दिया है कि बिजली देना है तो इस गांव में वोट मांगने आएं। यानी अब चुनावी वादे नहीं इरादे पक्के होने पर ही वोट मिलेगा।