रूपइया न देय से जान से मारे के कोशिश

जिला महोबा, ब्लाक जैतपुर, गांव बुधवारा। एते की पूजा ने बताओ कि मोओ मायका कबरई ब्लाक को बिलबई आय। मोई शादी पांच साल पेहले बुधवारा गांव में भई हती। मोए ससुराल वालों ने 24 मई 2013 खे बांध के आंखन में मिर्चा डार खे जान से मारे की कोशिश करी हे। जीखी रिपोर्ट अजनर थाना में लिखाई हे।
ऊने बताओ कि मोए बाप ने अपने हेसियत से ज्यादा दहेज दओ हतो। ससुराल वाले मोए दहेज खा लेके मारपीट गाली गलौज करत हते। जीसे ढाई साल पेहले गांव में पंचायत लगी हती। छह महीना पेहले पचास हजार रूपइया लाए खा कहत हते। मोओ बाप बोहतई गरीब हे में कहां से इत्तो रूपइया लाऊ। 24 मई 2013 खें फिर रूपइया मांगत हतो तो मेने मना कर दओ। जीसे मोए बांध  खे आंखन में मिर्चा डारे ओर जान से मारे के कोशिश करी हे। जीखी रिपोर्ट मेने अजनर थाना में करी हती।
पूजा के ससुराल में बात करी तो ऊखी दाई सरजू ने बताओ कि में लड़ाई के बारें में कछु नई बता सकत। गांव के चैकीदार मुन्ना ने बताओ कि ऊखो आदमी बोहतई दारू पियत हे। अजनर थाना के पुलिस ज्ञानसिंह ने बताओ-“ कि धारा 151 के ऊमे ऊखो आदमी पकर गओ हे। धरा 498 ए दहेज प्रथा के ऊमें मुकदमा लिख गओ हे। जीखी जांच थाना अध्यक्ष आर.पी. त्रिपाठी करत हे। जभे तक अदालत से आदेश न आहे तभे तक कोनऊ कारवाही नई हो सकत हे।”