राह देखइले बिजली

DSC03851
बिना बिजली के पोल

जिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड रीगा, पंचायत अन्हारी गांव माड़र कालींक। उहां बी.पी.एल. परिवार के तीन साल पहिले तार अउर मिटर मिलल रहई। जे राजीव गांधी विधुत वोर्ड योजना के तहत देल गेलई। उहां छः माह पहिले पोल हललई। लेकिन अभि तक उहां बिजली न गेल हई।
उहां के शिवजी राम, कृष्णनन्दन राम, चन्द्र मोहन राय, चन्द्रकला देवी लगभग बीस लोग कहलथिन कि एई गांव में कहियों से बिजली न हई। तीन साल पहिले जब तार मिटर मिलल त हमसब बहुत खुश भेली। कि अब हमरों गांव में बिजली के रौशनी चमकत। लेकिन जे आदमी मिटर तार देके गेलथिन उ तहिया से देखु न अएलथिन। अभी छः महिना पहिले पोल हला के गेलथिन। जे अभी ले बिजली न मिलल हई।
बिजली रहईत त मोबाईल चार्ज, टी. वी. पर समाचार भी देखती। लेकिन विभागीय लोग के कोई ध्यान न हई। मुखिया नुरजहां के पति इवराव उर्फ नन्हें अंसारी कहलथिन कि हम उहां बिजली के कनेक्सन जोड़े के लेल बिभाग में सुचना देले छी। लेकिन बिभाग के कोई सुनबाई न हई।
सीतामढ़ी बिजली बिभाग के बड़ा बाबु धिरज कुमार कहलथिन कि पटना से विधुत अधिक्षक केडी शर्मा आएल रहलथिन। उ सब जगह के निरिक्षण कलथिन। जहां बिजली न हई, जहां ट्रांसफामर न हई या चोरी हो गेल हई। उहां नार्थ बिहार पावर कम्पनि लिमिटेड के तहत काम चल रहल हई अउर काम करवाएल जतई।