रास्ता में लगे कूड़ा के ढेर

जिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव अस्थौन। ई गांव में एक तो सफाई कर्मी आउत नइयां। जब कभऊं आउत हे तो झाड़ू लगा के पूरो कूड़ा रास्तन रास्तन लगा जात हे। जीसे निकरें में बोहतई परेशानी आउत हे। अनीश अली ओर रानो के साथे दस आदमियन ने बताओ कि हमाये जा मुसलमानी मोहल्ला में डेढ़ महीना से सफाई नई भई आय। जीसे नालियन में इत्तो कूड़ा इकट्ठा हो गओ हे कि पानी तक नई निकर पाउत आय। एक तो हमाये द्वारन में नाली ढंग की बनी नइयां। दूसर समय से सफाई नई होत आय। भगवन्ती बताउत हे हम ई मोहल्ला में पचासन साल से रहत हें। पेहले तो सब लोग मिल के अपने-अपने द्वारे में बेठ जात हते, पे अब एक मिनट ठाढ़ होय में मुश्किल परत हे। काय से अगर सफाई कर्मी कभऊं सफाई करे आउत भी हे तो कूड़ा ओतई रास्ता में लगा देत हे। अगर ऊसे कूड़ा फेंके खा कहत हे तो ऊ कह देत हे कि गाड़ी टूट गई हे। में अपने सिर में कूड़ा न उठाहों। एई से जभे अपने दरवाजे में गंदगी नई अच्छी लागत हे तो हम खुद नाली साफ करत हें, ओर कूड़ा भी फेंक देत हंे। प्रधान छोटेलाल बताउत हे कि मोये गांव में दो सफाई कर्मी हें। जोन रोज सफाई करें आउत हें। कूड़ा एईसे बाहर लगा देत हें कि जभे सूख जेहे तो ट्राली में भर के फेंक देबी। अभे कछू दिन पेहले गाड़ी टूट गई। ऊखे चरखारी बनवाये खा भेज दई हे। गाड़ी आ जेहे तो कूड़ा फेंकवा देबी।

नाली को जा हाल
नाली को जा हाल