राजधानी में एक और मासूम की बलात्कार के बाद हत्या

लखनऊ में 10 साल की बच्ची के साथ हुए बालात्कार को लेकर धरणा प्रदर्शन
लखनऊ में 10 साल की बच्ची के साथ हुए बालात्कार को लेकर धरणा प्रदर्शन

लखनऊ। 17 मार्च, अलीगंज थाना क्षेत्र में एक 10 साल की बच्ची की लाश महानगर के छन्नीलाल चैराहे के पास बोरे में बन्द मिली। पोस्टमाॅटम रिर्पोट के अनुसार, बच्ची के साथ बलात्कार हुआ है और दम घुटने से मौत हुई।
लाश की पहचान कर बच्ची के परिवार वालों ने बताया कि 16 मार्च की रात को वो खाना खाने के बाद सवा दस बजे जब चॉकलेट लेने गई तो फिर वापस नहीं आई। जहाँ वो चॉकलेट लेने गई वह दुकान घर के बगल में ही है लेकिन जब वो एक घंटे के बाद भी नहीं आई तो पुलिस को उसके लापता होने कि खबर दी। रात भर ढूढ़ते रहने के बाद भी कहीं कुछ पता न लगा। दुसरे दिन, लगभग दिन के तीन बजे पुलिस को एक लाश मिली, परिवार ने उसे देख कर पहचान लिया।
एस.एस.पी. राजेश कुमार ने बताया कि हमने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। छानबीन के दौरान बच्ची की बहन ने बताया कि पास का ही एक रिक्शा चालक केदारनाथ उसकी बहन को कभी-कभी चॉकलेट और पैसे दिया करता था। इसी आधार पर केदारनाथ को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और जब सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने अपना गुनाह कबुल लिया।
पुलिस की कार्यवाही पर आरोपी अपराध कबूल कर लिया। उसने बताया कि वो बच्ची को बहलाकर अपने कमरे में ले गया था, जहां उसने बच्ची के साथ छेड़छाड़ की। लेकिन जब लड़की चिल्लाने लगी तो उसने बच्ची के मुंह में कपड़ा डाल दिया। जिससे दम घुट कर बच्ची की मौत हो गई। बच्ची की लाश के साथ वो रात भर छेड़छाड़ करता रहा। सुबह लगभग पांच बजे उसने लाश को एक बोरी में डाल, छन्नीलाल चैराहे पर फेक दिया।
पुलिस ने केदारनाथ के कमरे से, बच्ची के खून से सने चादर, पत्थर, कपड़े, तमंचा और बच्ची के मुंह में ठूसा हुआ कपड़ा बरामद किया।
अब कोर्ट की अनुमती के बाद आरोपी का मेडिकल टेस्ट कराया जाएगा।