मेड इन चाइना से व्यवसाय तो कोने कोने में चल रहा है, तो क्या बहिष्कार सही उपाय है?

महोबा शहर में 1 सितम्बर को बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने चाइना की बनी हर वस्तुओं बहिष्कार किया क्या हकीकत में सरकार चीन के सामान चीन के सामान का बहिष्कार करना चाहती है|बजरंग दल के कार्यकर्ता सतेन्द्र कुमार का कहना है कि अपने घर में जो सामान लेना है वह चाइना सामान है स्वादेशी सामान लेना है|और उन्होंने कहा कि हमार बहिष्कार से समाज जागेगा हमारे जो हमारों कार्य करता है प्रत्येक जिले में हो रहा लाखों लोगो बीच मिडिया से सोसल मिडिया से जो हमारे समर्थ है जब की अपील से लीग चीन का सामान हटा रहे है हमारे लोगो ने संकल्प लिया है|
मोबाइल कि दुकान वाला महाशय गुप्ता लोग चीन के सामान का बहिष्कार कर रहे है लोग सरकार मंगवा रही है तो लोग क्या करेंगे और अब तो लोगो को चायनी सामान कि आदत पड़ गई है|
बजरंग दल के कार्यकर्ता धर्मेन्द्र सिंह ने कहा कि न तो यहाँ सामान आएगा ना तो दूसरी जगह चीन का सामान कोइ न खरीदे|
अब उनकी भरपाई कैसे करेगी सरकार जो लोग चायनीज सामानों का व्यवसाय से जुड़े है|सभी लोगो का कहना है कि जब तक सरकार नहीं कुछ करेगी तो आम जनता क्या कर सकती है पर सरकार क्यों करेगी उसको तो टैक्स मिल रहा है जी एस टी भी लागू है तो सरकार का तो फायदा है न|

बाईलाइन-सुनीता प्रजापति 

06/09/2017 को प्रकाशित