मिलल जुलल रूप

13-02-14 Kasba
जिला वाराणसी। इ नयी पुरानी सोच के मिला के बनल हव इ आधुनिक अंगीठी। ना फुकनी के जरूरत ना हौकनी के जरूरत। बिना आंशू बिना धुंआ के खाना बनी फटाफट।