मारपीट कइके करिन घायल

थाना मा बइठ जगजीवन
थाना मा बइठ जगजीवन

सितम्बर 2013 के महीना मा अलग-अलग दिन कइयौ गांवन मा मारपीट भे है। इं मामला पुलिस विभाग तक पहंुचे। पुलिस सबै मामलन मा कारवाही करिस है।
जिला बांदा, ब्लाक बबेरू, गांव उमरी। हेंया का सुनील कुमार आपन बाप रामकृपाल का बहुतै मारिस है। रामकृपाल कहत है-“मैं लड़कन के बंटवारा कई दीनेंव। सुनील कुमार आपन हिस्सा के मोटर साइकिल अउर एक लाख रूपिया के जेवर गहन धई दिहिस अउर जुंआ मा हार डारिस। मैं कउनौतान कर्जा लइके उनका छुटवायेंव। अब सुनील कुमार दुबारा से मोटर साइकिल अउर गहना मांगत है। नहीं देतेव तौ मोहिका बहुतै मारिस। मैं बबेरू थाना मा दस दिन पहिले रपट लिखाये हौं।” बबेरू थाना का मुंशी कर्ण सिंह कहत है कि सुनील कुमार का पकड़ के जेल भेज दीन गा है।
जिला बांदा, ब्लाक तिन्दवारी, गांव खौड़ा मजरा दतरौली। हेंया का जगजीवन बताइस कि 16 सितम्बर 2013 का मैं गांव के शिवकुमार से रूपिया मांगेव। काहे से वा मोहिसे हल बनवाइस रहै। रूपिया मांगै मा वा गाली दे लाग। मना करेंव तौ लाठी डण्डा से मारपीट करिस। शिवकुमार बताइस कि मैं गाली नहीं दीनेंव। जगजीवन पहिले से गाली दे लाग रहै। या मारे मारपीट करे हौं।। चिल्ला थाना का मुंशी कालका प्रसाद कहत है कि शिव कुमार के खिलाफ मारपीट के धारा 323, 504 अउर 506 लाग है।
जिला बांदा, ब्लाक नरैनी, गांव नसेनी मजरा गोरे पुरवा। हेंया के ज्ञनिया कहिस कि 11 सितम्बर 2013 का कल्लू मोरे लड़का का बरछी से मारिस है। यतना घायल है कि है कि बांदा जिला अस्पताल से कानपुर रिफर कई दीन गा है। नरैनी कोतवाली मा रपट लिखाये हौं। कल्लू के मेहरिया चन्दन कहत है कि हम नहीं मारा आय। रात के अधियारे मा लड़ाई भे है। उंई खुदै हमरे धोखे अपने लड़का का मारिन हैं। नरैनी कोतवाली का मुंशी राज मोहन सिंह बताइन कि कल्लू राजकरन, राम स्वरूप अउर राकेश के खिलाफ मारपीट के धारा 223, 324, 504, 506 के धारा लाग है। यहिके जांच दरोगा संजय शर्मा करत है।

ज्ञनिया का दुखित परिवार
ज्ञनिया का दुखित परिवार