मांगे दान में नई, अधिकार में मिले

24-06-15 Mahoba - Patrakar Dharna webमहोबा जिला के पत्रकारन ने 25 जून खा काली पट्टी बांध के पत्रकारन के ऊपर होत हमला खा लेके मिसाल रैली निकारी हे। आल्हा चैक से लेके ऊदल चैक ओर मेन बाजार से तहसील में में ज्ञापन देन आये। ओते कोनऊ अधिकारी न होंय पे जमके हंगामा काटो। बाद में प्रधानमंत्री ओर गृहमंत्री के नाम तहसीलदार खा ज्ञापन दओ हे। पन्द्रह मांगन खा पूरी कें की मांग करी हे।

अमित श्रोती कहत हे कि हम बस की समस्या सुनत हे, पे आज जब हमाओ समय आओ तो कोनऊ भी अधिकारी खा समय नइयां की हमाओ ज्ञापन भेज सके। जभे की ईखी सूचना पेहले से दे दई हती। दैनिक जागरण संदीप रिछारिया कहत हे कि पत्रकारन पे होत हमला कोनऊ नई बात नई हे। मीडिया खा नाम के लाने चैथा स्तस्भ बना दओ हे। पे ऊखे कछू कहे ओर करे में आपनी जान की बाजी लगाये खा परत हे। एई से ई मांगन खे लाने प्रधानमंत्री खा ज्ञापन भेजो हे। जीसे पत्रकारन पे होत हमला बन्द होय।

पत्रकारों की मुख्य मांगे

– पत्रकारन का कोई केस दर्ज है तो जब तक पूरी जांच नही होती तब तक पत्रकार को जेल न भेजा जाये।
– केस की जांच आई.सी.पी. या फिर आई.पी.एस. अधिकारी द्वारा हो।
– पत्रकार के ऊपर लिखा मुकदमा फर्जी हो तो मुकदमा लिखवाने वाले को उम्र कैद सजा का प्रावधान हो।
– पत्रकार सुरक्षा एक्ट बने।
– किसी भी शासनिक प्रशासनिक कार्य में चैथे स्तम्भ की सहभागिता हो।
– पत्रकारो को सरकारी कार्ड जारी हो,जिससे किसी भी तरह की यातना न सहनी पड़े।
– पत्रकार से साथ किसी भी तरह की र्दुघटना होने पर सरकार की तरफ से उचित इलाज की व्यवस्था हो।
– पत्रकार की मौत होने पर बीस लाख का तत्काल मुआवजा मिले परिवार मे से किसी एक को सरकारी नौकरी मिले।
– हर जिले में एक राज्य सरकार मीडिया सेंटर बानवायें।