महोबा का अनोखा मेला

14-11-13 Manoranjan - Mahoba Melaजिला महोबा। महोबा का चरखारी इलाका लंबे समय तक चन्देल राजाओं के शासन में था। चन्देल राजाओं में मलखान का नाम सबसे जाना माना है।
यहां होने वाले एक ऐतिहासिक मेले की शुरूआत राजा मलखान ने साल 1883 में की थी। यह मेला हर साल दीपावली के दूसरे दिन शुरू होता है और एक महीने तक चलता है। मेला देखने दरू-दूर से हज़ारों लोग आते हैं।
अलग-अलग तरह के झूले, खिलौनों की दुकान, सर्कस में ‘मौत के कुंए’ जैसे करतब देखने के लिए लोग दूर दूर से इस ऐतिहासिक मेले में आते हैं।