मशीन घुसै से भा नुकसान

घर मा गिर गे मशीन
घर मा गिर गे मशीन

जिला चित्रकूट, ब्लाक कर्वी, कपसेठी। हिंया के कइयौ मड़ई बताइन हवैं कि सड़क बनत हवै। सड़क मा (बेलन) मशीन चलत रहै। वा मशीन का रामचन्द्र चलावत रहै। अचानक सड़क से चलत-चलत मशीन अंगद प्रजापति के घर मा 7 दिसम्बर 2013 का घुसगे। यहै से वहिके घर के दीवाल गिरगे अउर ड्राइवर रामचन्द्र चोटा गा। ड्राइवर इलाहाबाद मा भर्ती हवै।
अंगद प्रजापति के बिटिया सोनू का कहब हवै कि मशीन गिरै से बहुतै नुकसान होइगा हवै। वा कमरा मा खाना बनत रहै। येत्ता नींक भा कि मशीन गिरै के समय कउनौ वा कमरा मा नहीं रहै। हमार खाये पियै का सामान अउर बर्तन सबै दबगें हवैं। बाप अंगद प्रजापति जानकीकुण्ड मा सब्जी के दुकान लगावत हवै। हम तीन बहिनी एक भाई हन। हमार तौ गरीबी मा आटा गील होइगा हवै। बाप के लगे येत्ता रूपिया नहीं आय कि कत्तौ जमीन खरीद के घर बनवा लेइ। यहै से सड़क के किनारे कच्चा घर बना के रहित हन। सड़क बनवावैं वालेन का घर गिरै का मुआवजा दें का चाही। बाप के लगे येत्ता समय नहीं आय कि वा कत्तौ विभाग के चक्कर लगा सकै।
सड़क बनवावैं का जउन ठेकेदार ठेका लीने हवै वहिकर कहब हवै कि या सड़क लखनऊ के कम्पनी राही सिद्धार्थ कान्टेक्शन से बनत हवै। हमार मालिक बहुतै नींक हवैं। वा घर गिरै का मुआवजा जरूर देइ। रामचन्द्र का इलाज भी वहै करवावत हवै।