मनरेगा के मजदूरी पावैं खातिर भटकत

मनरेगा मजदुरी से परदेश भला
मनरेगा मजदुरी से परदेश भला

जिला बांदा ब्लाक बड़ोखर खुर्द, गांव बड़ोखर खुर्द। हेंया के मड़ई बताइन कि प्रधान मनरेगा के तहत काम करा लिहिस है। कुछ मड़ई मजदूरी का रूपिया पावैं खातिर एक साल से भटकत हैं।
काम करैं वाले मजदूर कैलशिया, उमा देवी अउर भूरी कहत हैं कि पिछले साल अगहन के महीना मा मनरेगा के तहत खन्ती खोदा रहै। या खंती बाई पास से बजरंग बली के जघा तक खोदी गे रहै। सम्पर्क मार्ग मा चार जने मिल के दुई सौ खंती खोदा रहै। अली मोहम्मद, गफी खान, गुड्डू खांन कहिन कि हमार पचीस खंती का रूपिया पंचायत मित्र अउर प्रधान हमरे खाता मा नहीं लगाइन। हम अगर इनसे कहत हन कि सबै मजदूरन का रूपिया मजदूरन के खाता मा डाल दीन गा है
पंचायत मित्र बदलू कहत है-“छह बाई आठ के खंती खोदी गई रहैं। मोर जानकारी मा निहाय कि केहिके केतनी ख्ंती रहैं। मैं पंचायत मित्र के पद मा प्राइवेट काम करत हौं।” बी.डी.ओ. आर.डी. यादव कहत है कि मोरे जान मा या पंचवर्षीय का रूपिया कउनौ का नहीं परा। सबके मजदूरी का भुगतान होई चुका है।