मड़इन के जान लेत जर-जर तार

तार बदलैं खातिर का दरखास
तार बदलैं खातिर का दरखास

जिला बांदा, ब्लाक महुआ, कस्बा महुआ। हेंया ब्लाक के पीछे दलित बस्ती से बांदा खातिर ग्यारह हजार पावर के तार निकली है। तार काफी पुरान जरजर अउर ढीली हैं। अतरे दिन मड़इन के जान का खतरा तार टूटै से होत है। 8 जुलाई 2014 का तार टूटै से पचासी साल का सुकुरूवा बुरीतान झुलस गा है।
सुकुरूवा का भाई चन्ना बतावत है-“मोर भाई सुबेरे 7 बजे दुवारे मा कुल्ला करत रहै। अचानक तार गिरी जेहिसे वा जल गा है। वहिका इलाज जिला अस्पताल मा चलत है। गांव के तिजोला, छेदीलाल, देवीदीन समेत लगभग पचासन मड़ई डी.एम. का दरखास दिहिन। कहत हैं कि तार दरे दरे सेे जुड़ी है। कुछ दिन पहिले झुलसैं से रामबहोरी हाथ के अगुली गवां चुका है। रामबहोरी बाप रामचरण तौ मर ही गा रहै। गाय, बकरी, तौ मरत ही रहत हैं। तार हटवावै, बदलैं अउर खतरा कम करै का तार मा पाइप लगावैं के मांग खुरहण्ड बिजली विभाग से कई चुके हन।”
डी.एम. हरेन्द्र वीर सिंह कहत हंै कि जांच करा के कारवाही कीन जई। बिजली विभाग बांदा अधिषाशी अभियन्ता कमलेश कुमार कहिन कि अबै जांच टीम जांच का गे है।