मजूरी खातिर धरना धरिन

मजूरी के करत मांग
मजूरी के करत मांग

जिला चित्रकूट, ब्लाक मानिकपुर, गांव चूल्ही का पुरवा बारामाफी। हिंया के लगभग छह सौ मजूर दुइ बरस पहिले वन विभाग कइती से पौधा लगावै का काम करिन रहैं, पै आजौ तक वन विभाग वाले मजूरी नहीं दिहिस आय। या कारन खर्चा खातिर एक-एक रूपिया का परेशान हवै। या कारन धरना धरिन। कर्वी विधायक वीर सिंह वन विभाग से मजरी देवावैं का भरोसा दिहिन।
मानिकपुर वन विभाग के क्षेत्राधिकारी जेड.यू.खान का कहब हवै-”आठ दिन के भीतर मजूरी दीन जई।”
कर्वी विधायक वीर सिंह पटेल का कहब हवै कि मजूरन के मजूरी वन विभाग से देवा दीन जई।
पुरवा के कमलेश, सुखरानी, चुनकी अउर रानी का कहब हवै कि मजूरी नहीं मिली आय। या कारन घर का खर्चा करै मा परेशानी उठावै का परत हवै। कउनौ के पांच महीना तौ कउनौ के छह महीना के परी हवै। अबै नवरात्रि अउर दशहरा का त्यौहार आवै वाला हवै। यहै से सोचित हन कि मजूरी मिल जाये तौ हमार त्यौहार नींकतान से होइ। या कारन वन विभाग मा 30 अगस्त से 1 सितम्बर 2013 तक धरना धरे रहेन तौ विधायक वीर सिंह पटेल मजूरी देवावै का भरोसा दिहिन हवै।