मजदूरी करें के बाद नई मिलो एकऊ रूपइया

परिवार भुखमरी के कगार पें
परिवार भुखमरी के कगार पें

जिला महोबा, ब्लाक कबरई, गांव डढ़तमाफ। एते के पचासन आदमियन ने नहर में नौ महीना पेहले एक-एक महीना काम करो, पे कोनऊ खा अभे तक एकऊ रूपइया मजदूरी नई मिली आय। जीसे गांव के आदमी तहसील ओर सिंचाई विभाग के चक्कर लगाउत हें।
गांव के शिवचरन, प्रभुदयाल, श्रीपत, पूरन, घसिटिया, रामदेवी, केशरानी ओर ममता ने बताओ कि हमने नहर की सफाई करें को काम एक महीना करो हतो। जीमे सिंचाई विभाग के जे.ई. सूर्यभान वर्मा कहत हतो कि दो सौ रूपइया रोज के हिसाब से मजदूरी मिलहे। दो सौ रूपइया तो का एक रूपइया तक नई मिलो। हम गरीब आदमी एक-एक रूपइया खा फिरत हें। नहर में काम करें के कारन हमने चैत में कछु काटो बीनो तक नइयां। जीसे अपने बच्चन खा बना के खवा सकन। हमाओ परिवार तो भुखमरी के कगार में आ गओ हे। सिंचाई विभाग में पता करो हतो तो ऊ कहत हते कि समाजवादी पार्टी चेक रोक दई हे। एई से हमने हमने 20 जून 2013 खा तहसील दिवस में दरखास दई हे तो जे.ई सूर्यभान वर्मा कहत हतो कि तुम्हे जा कछू करने हो तो करो, रूपइया नई देने हे। समाजवादी पार्टी कार्यालय दरखास दई हे। ऊने भरोसा दओ हे कहत हते कि सबको रूपइया दे दओ जेहे।
सिंचाई विभाग के ड्रफ्टमैन भागीरथ वर्मा ने बताओ कि पेहले हमने चालिस लाख को बजट मंगाओ हतो। जीमें 16 लाख रूपइया आओ हतो। ऊमे भी शासन को आदेश आ गओ हतो कि नहर को काम मनरेगा के तहत होहे। जीसे हमें ऊ रूपइया भी वापस करने परो हे। एई से ऊखो रूपइया नई मिल पाओ हे। जभे दुबारा रूपइया आहे, तो मजदूरी चुका दई हे।