मजदुर के मजदुरी न मिलल

gwजिला शिवहर, प्रखण्ड तरियानी, गांव कस्तुरिया, वार्ड नम्बर तेरह। इहां बी.पी.एल. परिवार के लोग के घर में मिट्टी भरावे के काम लगभग साल भर पहिले होलई। लेकिन मिट्टी भराई में लागल मजदूर के रूपईया न मिललई।
इहां के जोगी महतो, कलेवर राय, कमली देवी कहलथिन कि ऐई वार्ड के लगभग बीस लोग के घर आंगन में माटी गिरलई। इ काम मनरेगा के तहत करायल गेल रहई। खाली माटी त गिरवा देलथिन लेकिन ओकरा घर आंगन में भरे के लेल लोग के मजदूर लगावे परलई। ओकर मजदूरी हम सब अपना घर से देली ओई समय मुखिया जी कहलथिन कि सब के घर पिछु दु-दु हजार रूपईया देल जतई ऐही से हम सब मजदूर लगईली। लेकिन एक साल से बेसी हो गेल अभी तक हमरा सब के रूपईया न मिलल। गरीब आदमी ऐतना रूपईया कहां से लायब?
कार्यक्रम पदाधिकारी अजय सहाय कहलथिन कि अईसन कोई प्रक्रिया न हई, जेईमें मिट्टी भरावे ला मजदूर लगायल जाए। जईसे जेकरा घर में काम होतई उनका खुद काम करे के होतई। उनका सब के माटी भराई के काम छौ महिना पहिले भेल होतई। जे कुछ रूपईया देवे के रहई त अभी राज्य सरकार के पास मनरेगा फण्ड के लेल रूपईया न हई। जब अतई तब देल जतई।