मंत्री का बचाव कर रही उत्तर प्रदेश सरकार

logo
(फोटो साभार: विकिपीडिया)

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार अपने एक मंत्री के बचाव के लिए खुलकर सामने आ गई है। राज्य सरकार ने उनके अपने ही एक मंत्री पर लगे बलात्कार के आरोप के मुकदमें को वापिस लेने की सलाह दी है। सरकार की तरफ से बिजनौर के डी.एम. को इस बारे में पत्र भी लिखा गया है।
राज्य सरकार की तरफ से लिखे पत्र में साफ कहा गया है कि समाजवादी पार्टी के मंत्री पर झूठा आरोप लगाया गया है। न केवल ये मुकदमा वापिस लिया जाना चाहिए बल्कि मंत्री को अदालत की तरफ से सुरक्षा भी दी जानी चाहिए। नगीना के विधायक और मंत्री मनोज कुमार पारस पर आरोप है कि उन्होंने 8 दिसम्बर 2006 को एक दलित महिला को राशन की दुकान देने के बहाने घर बुलाकर तीन साथियों के साथ उसका बलात्कार किया।