भारतीय महिला विश्व कप 2016: मिलिए भारतीय महिला क्रिकेट टीम की योद्धाओं से

 teamindia web
2016 आई.सी.सी महिला विश्व कप की शुरुआत कल 15 मार्च से हुई | टूर्नामेंट का पहला मैच बेंगलुरु के चिन्नास्वामी मैदान में भारत और बांग्लादेश के बीच थी, जिसमें भारत ने बांग्लादेश को 72 रन से हराया | 
भारत की टीम अब एक्सपर्ट हो चुकी है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक जीत हासिल करने के बाद कप्तान मिताली राज की टीम को विजेता टीमों के समूह में से एक पाया गया. यही कारण है जिसने टीम को महिला विश्व कप टी-ट्वेंटी के लिए पसंदीदा टीम बनाया.
जानिये टीम के खिलाडियों को :

mithali-raj-171x300 मिताली राज: जर्सी नंबर 3

हैदराबाद की 33 वर्षीय आल राउंडर खिलाड़ी मिताली राज भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान है | बचपन में वो भरतनाट्यम डांसर बनना चाहती थी लेकिन परिस्थितियों ने उन्हें क्रिकेटर बना दिया | 10 साल की उम्र से लगातार क्रिकेट खेलने के बाद 17 साल की उम्र में उन्हें नेशनल टीम में चुना गया | राज दुनिया में दूसरी खिलाड़ी हैं जिन्होंने एक दिवसीय क्रिकेट में 5000 रन बनाये | राज को अपने बेहतरीन प्रदर्शन के लिए अर्जुन अवार्ड से सम्मानित भी किया जा चुका है |

 

 

झूलन गोस्वामी: जर्सी नंबर 25jhulan-goswami-171x300

राज और गोस्वामी टीम के सबसे सीनियर खिलाडियों में से एक हैं | बंगाल की 32 वर्षीय गोस्वामी आल राउंडर है और शानदार माध्यम तेज़ गेंदबाज़ है | गोस्वामी 1997 विश्व कप के फ़ाइनल में वालंटियर के रूप में मौजूद थी और तब से उन्हें एक पेशे के तौर पर क्रिकेट खेलने का चस्का लग गया | उनके लम्बे और रोमांचक कैरियर ने हमारी देश की कई लड़कियों को प्रेरित किया है | आई.सी.सी. की सबसे बेहतरीन महिला क्रिकेटर अवार्ड के बाद उन्हें पद्मश्री से भी सम्मानित किया गया |

 

 


smriti-mandhana-171x300

स्मृति मंधना: जर्सी नंबर 18

सांगली जैसे छोटे गाँव से आई 19 वर्षीय दाहिने हाथ बल्लेबाज़ स्मृति एक बैलेंस्ड खिलाडी है | इनका प्रदर्शन एक अनुभवी खिलाड़ी जैसा नज़र आता है | पिछले महीने उन्होंने अपना पहला शतक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मारा | मंधना को भारतीय टीम का उभरता सितारा माना जाता है और इस विश्व कप में उनपर सबकी नज़र होगी |

 

 

 

 

harmanpreet-171x300 हरमनप्रीत कौर: जर्सी नंबर 84

मध्यम तेज़ गेंदबाज़ कौर हमारे टीम की सबसे धुँआधार बल्लेबाज़ में से एक है | 27 साल की कौर पंजाब के मोगा जिले से है | वो बचपन से क्रिकेट खेलते आ रहीं है | औपचारिक ट्रेनिंग के बाद उन्होंने पंजाब और पूर्वी क्षेत्र के लिए खेलना शुरू किया और अन्तर्रष्ट्रीय क्रिकेट 2009 में, जिसमें वे सीनियर राष्ट्रीय टीम के लिए खेलीं | कौर अपनी खेल को बेहतर करने के लिए एक डायरी भी रखती है |

 

 

 

VR-Vanitha-171x300

वी.आर वनिता: जर्सी नंबर 59

बैंगलोर की 25 वर्षीय वनिता भारत की ओपनिंग बल्लेबाज़ होते हुए दाहिने गेंदबाज़ भी हैं | वो कर्नाटक में स्टेट लेवल पर खेल चुकी है | इन्होंने पिछले साल के भारत – न्यूज़ीलैण्ड प्रैक्टिस मैच की कप्तानी भी की | इस साल खेले गए ऑस्ट्रेलिया और श्री लंका के खिलाफ मैचों में उन्होंने दमदार प्रदर्शन किया |

 

 

 

 

veda-krishnamurthy-171x300

वेदा कृष्णामूर्ति: जर्सी नंबर 79

कर्नाटक स्टेट लेवल खेलने के बाद 23 वर्षीय खिलाड़ी वेदा एक ज़बरदस्त दाहिने हाथ बल्लेबाज़ है | 2011 में उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय वन डे से शानदार शुरुआत की |

 

 

 

 

 

anuja-patil-171x300

अनुजा पाटिल: जर्सी नंबर 82

कोल्हापुर, महाराष्ट्र की रहने वाली 23 वर्षीय पाटिल आल राउंडर खिलाड़ी है | उन्होंने महाराष्ट्र टीम के लिए कप्तान की रूप में खेला है | अपने कैरियर का सबसे शानदार प्रदर्शन उन्होंने भारत की पहली टी-20 सीरीज, श्रीलंका के खिलाफ खेल कर की |

 

 

 

 

shikha-pandey-171x300

शिखा पांडेय: जर्सी नंबर 12

15 वर्ष की उम्र से अपना कैरियर शुरू करने वाली शिखा एक आल राउंडर खिलाडी हैं | शिखा ने बांग्लादेश के खिलाफ अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय मैच खेला | शिखा क्रिकेट के अलावा भारतीय वायु सेना के लिए एयर ट्रैफिक कंट्रोलर के रूप में भी काम करती हैं |

 

 

 

 

sushma-verma-171x300

सुषमा वर्मा: जर्सी नंबर 5

शिमला की रहने वाली 23 साल की सुषमा अपनी मुस्कान के साथ मैदान में उतरती है | एक विकेट कीपर होते हुए सुषमा हिमाचल से पहली महिला क्रिकेटर है जिन्होंने नेशनल लेवल पर खेला है | सुषमा पत्रकार बनना चाहती थी लेकिन क्रिकेट की चाहत उन्हें यहाँ ले आई | 2015 के न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ टी-20 मैच में उन्होंने 4 विकेट लिए और एक मैच के दौरान सबसे ज्यादा विकेट लेकर वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ दिया |

 

 

 

Thirushkamini-171x300

एम.डी थिरुश्कामिनी: जर्सी नंबर 16

मात्र 23 साल की उम्र में थिरुश्कामिनी पहली ऐसी महिला क्रिकेटर थी जिन्होंने आई.सी.सी विश्व कप में शतक मारा | क्रिकेट को अपना कैरियर चुनते हुए 10 साल की छोटी उम्र से ही उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था | 2006 से एक क्रिकेटर की तरह शुरुआत कर, 2007-08 में बी.सी.सी.आई से जूनियर महिला क्रिकेटर का पुरस्कार अर्जित किया | एक बार फिर, 2009-10 में वही पुरस्कार उन्हें सीनियर क्रिकेटर के रूप में मिला |

 

 

ekta-bisht-171x300

एकता बिष्ट: जर्सी नंबर 8

अल्मोड़ा की रहने वाली 30 वर्षीय एकता अपने राज्य से पहली अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर है | उन्होंने अपने अंतर्राष्ट्रीय कैरियर की शुरुआत 2011 में की और अगले साल के विश्व कप में श्रीलंका के खिलाफ लगातार 3 विकेट लिए | इस साल की श्रीलंका सीरीज के फ़ाइनल में उन्होंने 3 विकेट ले कर भारत को जीत की तरफ पहुँचाया |

 

 

 

poonam-yadav-171x300

पूनम यादव: जर्सी नंबर 24

आगरा की रहने वाली 24 वर्षीय दाहिने हाथ, आल राउंडर खिलाडी अपनी खतरनाक गूगली के लिए जानी जाती हैं | 2014 में आई.सी.सी. ने एक विश्व सुपर टीम बनाई जिसमें दुनिया की सबसे शानदार खिलाड़ियों को शामिल किया गया | 2014 के विश्व कप में 8 विकेट लेने के बाद उन्हें  इस शानदार टीम में भारत की एकमात्र खिलाड़ी के रूप में शामिल किया गया |

 

 

 

deepthi-sharma-171x300

दीप्ति शर्मा: जर्सी नंबर 6

भारतीय टीम की सबसे कम उम्र आल राउंडर खिलाड़ी के रूप में दीप्ति ने अपने अंतर्राष्ट्रीय कैरियर की शुरुआत 2014 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेल कर की | उन्होंने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय टी-20 इस साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला | श्री लंका के खिलाफ खेलते हुए उन्होंने एक मैच में 6 विकेट लिए और भारत को जिताया |

 

 

 

rajashree-gayakwad-171x300

राजेश्वरी गायकवाड: जर्सी नंबर 1

2014 में अपनी अंतर्राष्ट्रीय पारी शुरू करने वाली 24 वर्षीय गायकवाड कर्नाटक के बीजापुर से हैं | आल राउंडर क्रिकेट खिलाडी होने के साथ, राजेश्वरी जेवलिन और डिस्कस भी खेलती थीं | राजेश्वरी  बीजापुर क्रिकेट कोचिंग सेंटर तक पहुँचने के लिए रोजाना मीलों चलती थी | यह उनकी जीवन का संघर्षपूर्ण समय रहा |

 

 

 

niranjana-nagarajan-171x300

निरंजना नागराजन: जर्सी नंबर 99

भारतीय क्रिकेट टीम की 27 वर्षीय निंजा ने 10 साल की उम्र से खेला शुरू किया | 8 साल बाद खेले गए एक ऐतिहासिक टेस्ट मैच में टीम के साथ निरंजना ने इंग्लैंड को हराया | रेलवेज़ क्रिकेट टीम के साथ खेलते हुए नागराजन चेन्नई रेलवेज़ में टिकेट कलेक्टर का काम भी करती थीं |

 

 

 

 

फोटो/लेख साभार: दीपिका सारना/लेडीज़ फिंगर