बढ़ती का नाम महंगाई

नई दिल्ली। अच्छे दिनों के इंतज़ार में बैठी जनता के ऊपर महंगाई की मार पड़ती जा रही है। रेलवे किराए में सीधे चैदह प्रतिशत बढ़ोतरी के बाद, खाने पीने की चीज़ें महंगी होती जा रही हैं।
अब सरकार ने चीनी के आयात पर पंद्रह प्रतिशत से बढ़ाकर चालीस प्रतिशत कर दिया है। सरकार के अनुसार ऐसा चीनी मिलों की खराब स्थिति को सुधारने के लिए किया गया है। मगर इससे चीनी के दाम दो से तीन रुपए बढ़ सकते हंै। माना जा रहा है कि सरकार रसोई गैस के सिलेंडर की कीमत भी बढ़ाएगी।
बजट आने के बाद हर महीने दस रुपए कीमत बढ़ेगी जब तक तेल कंपनियों का घाटा पूरा नहीं हो जाता और सिलेंडर के भाव बाज़ार भाव तक नहीं पहुंच जाते।

rail
रेलवे किराए में चैदह प्रतिशत की बढ़ोतरी