बीना अपराध के गेल प्राण

जिला सीतामढ़ी, प्रखण्ड बथनाहा, गांव कमलदह। उहां के मोकिमा खातून के शादी 29 मार्च 2013 के डुमरा प्रखण्ड के गोसाइपूर गांव में समीर दर्जी  के साथ भेल रहई। जे 10 मई 2013 के मारल गेलई। उनका मायेके के लोग के कहना हई कि दहेज के कारण इ घटना भेलई।
मोकिमा खातून के चचेरा भाई अलि हजरत दर्जी अउर मोहम्मद हारूण दर्जी कहलथिन कि हमरा बहीन के माई मर गेल हई भाई भी न  हई चाचा वृद्धा हो गेल छथिन। तब हम सब अपना कमाई पर बहिन के शादी गोसाइपुर के मोmahila mudda2हम्मद अयूब उर्फ सीपाही दर्जी के बेटा समीर दर्जी से कइली। जे मांग कयल उ पूरा कइली। जब शादी में खिर खिलाई के विधि में लड़का अपना दोस्त के साथ घर में जाय चहलथिन।  हम सब मना कइली त उ विधि त कयेल। लेकिन लड़की के साथ खराब व्यवहार कलथिन अउर शौच के बहाना से बाहर गेल से बाहरे रह गेल। एई के रिर्पोट हम थाना में देली त पुलिस लड़का लड़की के बुला के थाना से विदाई कलथिन। ओई के बाद लड़का हमेशा लड़की के साथ मार पीट करईत रहलक। एक लाख रूपईया दहेज के लेल मांग करईत रहलक। हमसब गरीब आदमी ओतना रूपईया कहां से दे पइती। जेई कारण हमरा बहीन के जला के मार देलक।
संरपंच उमेश प्रसाद कहलथिन कि एइ घटना कें लेल अपराधी के जल्दी से जल्दी सजा मिले के चाही। डुमरा थाना के छोटा दरोगा कन्हैया कुमार कहलथिन कि इ घटना के मेडिकल रिर्पोट आ गेल हई। जे आग लगा के मार गेल हई। अभी ससूराल वाला सब घर छोर के भाग गेल छथिन। लेकिन जहां-जहां उनकर रिस्तेदार हई, उहां छापामारी जारी हई लेकिन उ बच जाई छई। अगर कुछ दिन में गिरफतार न होतई त उनकर कुर्की जप्ती कयल जतई।