बिना मुड़ेर कै कुंआ, गिरै कै डर

faizabad gaon wellजिला फैजाबाद, ब्लाक पूराबाजार, गंाव रोषननगर। हिंआ पचास साल से घर के सामने बिना मुड़ेहरी कै कुंआ बना बाय। जेसे मनईन का गिरै कै डर बना बाय।

श्रीराम लखन उपाध्याय, विजय कुमार उपाध्याय बताइन कि हमरे दुवारे पै कुंआ बाय। तिसरी बार प्रधानी आय कइव बार कहेन कि जगत बनुवाय दिया पर बनवावत नाय हइन। यहि कुंआ मा कइव बार जानवर गिर चुका हइन। जब-जब मीटिंग हुंआथै हम जगत बनुवावै के ताई कही थी तौ कहाथिन बन जाये। लकिन अबहीं तक बना नाय। बरसात मा बनुवावै के ताई आय रहिन। तौ हम घर गिरै के डर के मारा मना कै दिहेन। तबसे एकौ बार बनावै की ताई नाय आइन।

प्रधान मनीराम निषाद बताइन कि हम बनावै के ताई गा रहेन। लकिन वै बनुवावै नाय दियत हइन। कहाथे हमार घर गिर जाये। वकरे बाद से पांच कुआं कै मरम्मत करवाये हई।