बिजली कटौती कम करब केहिके हवै जिम्मेदारी

kasba balbचित्रकूट जिले मा या समय बिजली के कटौती मड़इन का बेहाल कइ दिहिस हवै। बिजली आवै जाये का कउनौ समय नहीं होत आय। रात दिन बिजली आंख मिचैली करत हवै। आखिर बिजली के कटौती काहे मड़इन का परेशान करै मा लाग हवै। का या बात के कउनौ चिन्ता सरकार का नहीं आय। या फेर समस्या के बारे मा सरकार का कउनौ जानकारी नहीं आय।
मई जून के महीना का गर्मी से ज्यादा जुलाई के महीना मा उमस अउर तपन जइसे गर्मी हवै। अपने सुविधा खातिर मड़ई कूलर पंखा लेत हवै। उंई देखै खातिर धरे हवैं। रूपिया वाले मड़ई तौ जनरेटर से कूलर, पंखा चला लेत हवै, पै गरीब मड़इन का इं सुविधा कसत मिली। बिजली के बिना बच्चन के पढ़ाई का नुकसान होत हवै। आखिर सरकार बिजली के कटौती काहे करत हवै। वा जनता के साथै खिलवाड़ करै मा लाग हवै। अगर देखा जाये तौ दूसर कइती फैक्ट्री अउर कारखाना मा रात दिन बिजली के पूर्ति कहां से होत हवै। जबै कि जनता खातिर बिजली विभाग वाले कहि देत हवंै कि बिजली का तार बरसात के कारन फाल्ट होइ जात हवै। का फैक्टी अउर कारखाना का तार कत्तौ फाल्ट नहीं होत हवै। सरकार बिजली के कटौती करै मा काहे लाग हवै। या बात का जवाबदेही सरकार का दें के जरूरत हवै।