बिगरे हैण्डपम्प, बच्चा किते से पियें पानी

Aanganwadi Handpumpजिला महोबा, ब्लाक चरखारी, गांव अस्थौन। ई गांव में प्रधान के अनुसार तीस हैण्डपम्प लगे हें। जीमें सात खराब परे हें। दो हैण्डपम्प आंगनवाड़ी केन्द्र के एते लगे हें। ऊ दोनऊ भी खराब परे हे।
आंगनवाड़ी सहायिका गोमती देवी ने बताओ कि मोये केन्द्र के एते तीन साल पेहले हैण्डपम्प लगो हतो। जोन छह महीना से खराब परो हे। ई हैण्डपम्प खराब होय के बाद सड़क के ऊ पार लगो हैण्डपम्प से बच्चा पानी पियत हते, पे एक महीना से ऊ हैण्डपम्प भी खराब हो गओ हे। जीसे पानी खे बोहतई परेशानी आउत हे। मोये केन्द्र में पैंतिस बच्चा रोज पढ़े आउत हें। जीखे पिये खे लाने पानी में चार सौ मीटर दूर अपने घर से लाउत हों, पे एक बाल्टी पानी इत्ते बच्चन खा नई पूजत आय। हैण्डपम्प सुधराये खे लाने केऊ दइयां प्रधान खे कहो हे, पे नींक से नई सुधराउत आय। जीखे कारन बच्चन खा पानी पिये खे लाने बोहतई परेशानी होत हे।
प्रधान छोटेलाल बताउत हें कि आंगनवाड़ी केन्द्र वाले हैण्डपम्प में कछू की जड़ फंस गई हे। जीखा केऊ दइयां सुधराओ हे, पे ऊ तुरतई खराब हो जात हे। सड़क के ऊ पार वालो हैण्डपम्प को हत्था नइयां। में हैण्डपम्प में जल्दी हत्था लगवा देहों।